सांस की लड़ाई! चेन्नई के कोयम्बटूर के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी, नए रोगियों की एंट्री बंद, मरीज परेशान

कोयंबटूर के एक अग्रणी अस्पताल के एक डॉक्टर ने कहा, हम नए रोगियों को स्वीकार नहीं कर रहे हैं क्योंकि हमें डर है कि वर्तमान में हमारे पास मौजूद ऑक्सीजन हमारे मौजूदा रोगियों के लिए पर्याप्त नहीं है। हम वास्तव में एक संकट का सामना कर रहे हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

चेन्नई के कोयम्बटूर के कई अस्पतालों में सांस की तकलीफ का सामना करने वाले रोगियों को अब भर्ती नहीं किया जा रहा है। अस्पताल वाले ऑक्सीजन की कमी की संभावना के डर से नए रोगियों को नहीं ले रहे हैं, जबकि उनके पास फिलहाल ऑक्सीजन बेड उपलब्ध हैं।

कोयंबटूर के एक अग्रणी अस्पताल के एक डॉक्टर ने कहा, हम नए रोगियों को स्वीकार नहीं कर रहे हैं क्योंकि हमें डर है कि वर्तमान में हमारे पास मौजूद ऑक्सीजन हमारे मौजूदा रोगियों के लिए पर्याप्त नहीं है। हम वास्तव में एक संकट का सामना कर रहे हैं। हमें ऑक्सीजन की आपूर्ति और एक्स्ट्रा बेड की जरूरत है।" हालांकि, रोगियों के रिश्तेदारों ने पाया है कि शनिवार रात इन अस्पतालों में ऑक्सीजन के साथ पर्याप्त बेड उपलब्ध थे।

कोयंबटूर के एक अस्पताल में दाखिला नहीं मिलने वाले एक मरीज के भाई रामनारायण ने कहा कि अच्छी संख्या में बिस्तर उपलब्ध हैं लेकिन अस्पताल मरीजों को दूर कर रहे हैं।

रामनारायण ने कहा, "मेरे भाई को सांस लेने में कठिनाई हो रही थी और जब मैं उन्हें अस्पताल लाया, तो उन्होंने मुझे बताया कि बेड नहीं हैं। हालांकि मेरे कुछ दोस्त हैं जो मेडिकल में हैं। उन्होंने मुझे बताया कि पर्याप्त बेड उपलब्ध हैं और अस्पताल मौजूदा रोगियों का ध्यान रखने के लिए नए रोगियों की भर्ती नहीं कर रहे हैं।"


तमिलनाडु सरकार के एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी शंकरनारायणन ने कहा, "हम इस मामले को देखेंगे और एक समाधान लाएंगे। उपलब्ध ऑक्सीजन बेड वाले अस्पतालों में रोगियों को भर्ती करना होगा और सरकार तुरंत आवश्यक कार्रवाई करेगी।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 09 May 2021, 3:45 PM