नए साल में जेब पर बोझ के लिए रहें तैयार, ATM से कैश निकालने से कपड़े-जूते खरीदना तक होगा महंगा, 1 जनवरी से ही बदलाव

केंद्र सरकार ने 1 जनवरी से कपड़ों, फुटवेयर पर जीएसटी 7% से बढ़ाकर 12% करने का फैसला लिया है। इसके अलावा ऑनलाइन ऑटो रिक्शा बुकिंग पर भी 5% जीएसटी लगाया गया है। इस तरह ओला, उबर जैसे ऐप से ऑटो रिक्शा बुक करना अब महंगा हो जाएगा।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

आने वाला साल 2022 अपने साथ कई बदलाव लेकर आने वाला है। इन बदलावों का सीधा असर आम आदमी की जिंदगी पर पड़ने वाला है। क्योंकि 1 जनवरी से कई बैंकिंग से लेकर शॉपिंग तक के कई नियमों में बड़े बदलाव होने वाले हैं, जिससे एटीएम से पैसे निकालने से लेकर कपड़े-जूते खरीदना तक महंगा हो जाएगा। आइए जानें 1 जनवरी से कहां-कहां आपकी जेब पर बोझ बढ़ेगा।

एटीएम से पैसे निकालना हो जाएगा महंगा

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा फ्री ट्रांजैक्शन के बाद कैश निकासी पर लगने वाले चार्ज को बढ़ाने की मंजूरी देने के बाद यह शुल्क 1 जनवरी से बढ़ने वाला है। बैंक अभी निश्चित सीमा के बाद ग्राहकों से 20 रुपए प्रति ट्रांजैक्शन वसूलते हैं। इसमें टैक्स शामिल नहीं है। अब आरबीआई की हरी झंड़ी मिलने के बाद बैंक फ्री ट्रांजैक्शन के बाद अपने ग्राहकों से प्रति ट्रांजैक्शन 20 की जगह 21 रुपए ले सकेंगे। इसमें भी टैक्स शामिल नहीं है। यह 1 जनवरी 2022 से लागू होगा।


कपड़े और जूते-चप्पल खरीदना होगा महंगा

केंद्र सरकार ने 1 जनवरी से कपड़े और फुटवेयर पर 12% जीएसटी लगाने का फैसला लिया है। सरकार ने कपड़े, रेडीमेड और फुटवेयर पर 7% जीएसटी बढ़ाई है। इसके अलावा ऑनलाइन ऑटो रिक्शा बुकिंग पर भी 5% जीएसटी लगाया गया है। इस तरह ओला, उबर जैसे ऐप से ऑटो रिक्शा बुक करना अब महंगा हो जाएगा। हालांकि ऑफलाइन में ऑटो रिक्शा किराये में कोई बदलाव नहीं होगा। उसे अभी टैक्स से बाहर रखा गया है।

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक खाता धारकों को भी झटका

नए साल के पहले दिन 1 जनवरी से इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के खाताधारकों को तय सीमा से ज्यादा कैश निकालने और जमा करने पर चार्ज देना होगा। बेसिक सेविंग्स अकाउंट से हर महीने 4 बार कैश निकासी फ्री होगी, लेकिन इसके बाद हर निकासी पर 0.50% शुल्क देना होगा, जो कम से कम 25 रुपए होगा। हालांकि बेसिक सेविंग्स अकाउंट में पैसे जमा करने पर कोई चार्ज नहीं होगा। इसके अलावा दूसरे सेविंग अकाउंट और करंट अकाउंट में 10 हजार रुपए तक जमा करने पर कोई शुल्क नहीं लगेगा। 10 हजार के बाद 0.50% शुल्क लगेगा, जो न्यूनतम 25 रुपए प्रति लेनदेन होगा। बचत और चालू खातों से हर महीने 25 हजार तक की निकासी मुफ्त होगी, पर उसके बाद हर ट्रांजैक्शन पर 0.50% चार्ज लगेगा।


गाड़ी खरीदना होगा महंगा

नए साल में कार खरीदना भी मंहगा हो जाएगा। मंहगाई की वजह से नए साल में मारुति सुजुकी, रेनो, होंडा, टोयोटा और स्कोडा समेत लगभग सभी कार कंपनियों के कार खरीदने के लिए ज्यादा कीमत चुकानी होगी। टाटा मोटर्स ने तो 1 जनवरी से कॉमर्शियल व्हीकल की कीमतों में 2.5% की बढ़ोतरी का पहले ही ऐलान भी कर दिया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia