यूपी चुनाव से पहले प्रदेश में 52 लाख से ज्यादा नए वोटर जुड़े, 21 लाख नाम हटाए गए, आयोग ने जारी की सूची

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि आयोग को 74 लाख के करीब आवेदन पत्र प्राप्त हुए थे। इनमें से 52.80 लाख नाम जोड़े गए हैं, जबकि 21.40 लाख नाम काटे गए हैं। अभियान के दौरान 18 और 19 वर्ष की आयु के 19.79 लाख मतदाताओं के नाम जोड़े गए हैं।

फाइल फोटोः सोशल मीडिया
फाइल फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश चुनाव से पहले मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन आज जारी कर दिया। इस बार मतदाता संक्षिप्त पुनरीक्षण अभियान में प्रदेश में 52,80,882 नए मतदाता जोड़े गए हैं, जबकि 21,40,278 मतदाताओं के नाम सूची से हटाए गए हैं।

मुख्य चुनाव अधिकारी अजय कुमार शुक्ल ने बताया कि प्रदेश में कुल 15 करोड़ 2 लाख 84005 मतदाता हैं। सूची में 14 लाख 66 हजार 470 युवा मतदाता जोड़े गए हैं जिनकी उम्र 18 से 19 साल है। सूची में 18-19 वर्ष की आयु वर्ग के मतदाताओं की कुल संख्या 19 लाख 89 हजार 902 है। इसमें 10 लाख 62 हजार 410 पुरुष और 9 लाख 26 हजार 945 महिलाएं और 547 तृतीय लिंग के युवा हैं।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी के अनुसार, अंतिम प्रकाशित मतदाता सूची प्रदेश के सभी मतदान स्थलों के संबंधित बूथ पर अगले एक सप्ताह के लिए प्रदर्शित की जाएगी, जिसमें सभी मतदाता अपना नाम देख सकते हैं। मतदाता सूची मुख्य निर्वाचन अधिकारी और जिला निर्वाचन अधिकारी की वेबसाइट पर भी उपलब्ध होगी। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने प्रदेश के सभी मतदाताओं से सूची में अपना नाम देखने की अपील की है। प्रदेश में इस समय कुल एक लाख 74 हजार 351 पोलिंग स्टेशन हैं।


उन्होंने बताया कि एक जनवरी 2022 को 18 वर्ष की आयु पूरी करने वाले युवाओं को मतदाता बनाने और जिनकी मृत्यु हो गई है, उनके नाम हटाने के लिए भारत निर्वाचन आयोग ने मतदाता सूची विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण अभियान चलाया था। आयोग को 74 लाख के करीब आवेदन पत्र प्राप्त हुए। इनमें से 52.80 लाख नाम जोड़े गए हैं, जबकि 21.40 लाख नाम काटे गए हैं। अभियान के दौरान 18 और 19 वर्ष की आयु के 19.79 लाख मतदाताओं के नाम जोड़े गए हैं।

प्रदेश में पिछले 10 वर्षों में पुरुषों की तुलना में महिला मतदाताओं की संख्या इस बार बढ़ी है। वर्तमान में एक हजार पुरुषों की तुलना में 868 महिलाएं हैं। वर्ष 2012 में एक हजार पुरुषों पर मात्र 816 महिलाएं ही थीं। राज्य में कुल दिव्यांग मतदाताओं की संख्या 10.64 लाख के करीब है। इस विधानसभा चुनाव में 80 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्ग मतदाताओं और दिव्यांगों को घर बैठे पोस्टल मतदान की सुविधा दी जा रही है।


प्रदेश में कोरोना संक्रमण के कारण 1,500 मतदाताओं के बजाय 1,200 मतदाताओं पर एक पोलिंग बूथ बनाया गया है। इस बार कुल बूथों की संख्या एक लाख 74 हजार 351 है। पहले बूथों की संख्या एक लाख 64 हजार 472 थी। वहीं, पोलिंग स्टेशन की संख्या भी 91 हजार 572 से बढ़कर 92 हजार 821 हो गई है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia