बंगाल बीजेपी नेता ने टीएमसी को बताया टेररिस्ट मेन्युफैक्चरिंग कंपनी, ममता के भतीजे ने दिलीप घोष को कहा- गुंडा

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष को गुंडा करार देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी महासचिव और बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय सहित बीजेपी के कई नेताओं को बाहरी तक बता दिया।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

आसिफ एस खान

पश्चिम बंगाल में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर जोर-शोर से तैयारियों में लगी बीजेपी और ममता बनर्जी की टीएमसी के बीच जुबानी जंग पहले से और तेज होती जा रही है। ताजा हमले में बंगाल बीजेपी के उपाध्यक्ष राजू बनर्जी ने तृणमूल कांग्रेस को टेररिस्ट मेन्युफैक्चरिंग कंपनी करार दे दिया है। इस पर सीएम ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने पलटवार करते हुए बंगाल बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष को गुंडा और प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय को बाहरी करार दे दिया है। अब इस पर जवाब देते हुए घोष ने बनर्जी को बच्चा बताया है।

प्रदेश के चुनाव से पहले तेज हुई हलचल के बीच रविवार को पश्चिम बंगाल बीजेपी के उपाध्यक्ष राजू बनर्जी ने टीएमसी पर बड़ा हमला करते हुए कहा, “समय के साथ टीएमसी का अर्थ बदलता रहा है। अब यह टेररिस्ट मेन्युफैक्चरिंग कंपनी (आतंकवादी निर्माण कंपनी) हो गई है। युवाओं में यही धारणा है। यहां तक कि टीएमसी कार्यकर्ता भी ऐसा ही सोचते हैं और इसीलिए वे कब्रिस्तानों की दीवार पर लिख रहे हैं कि टीएमसी 2021 में आ रही है।”

वहीं विवादित और अमर्यादित बयानों के लिए बीजेपी नेताओं से प्रतियोगिता करते हुए टीएमसी सांसद और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने रविवार को प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष को गुंडा करार दिया। इतना ही नहीं, इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी महासचिव और पार्टी के बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय सहित पार्टी के कई नेताओं को बाहरी तक बता दिया।

अभिषेक बनर्जी के हमले पर दिलीप घोष कहां चुप रहने वाले थे। खुद को गुंडा कहे जाने पर पलटवार करते हुए घोष ने बनर्जी को बच्चा करार दे दिया। उन्होंने कहा, “पंचायत चुनाव में सबने देखा है कि कौन गुंडा है। उन्होंने मुझे न सिर्फ एक ठग कहा है, बल्कि माफिया भी कहा है। माफिया कौन है, यह सब जानते हैं। वास्तव में हताशा एक उच्चतम स्तर पर है।”

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर हलचल तेज हो गई है और जैसे-जैसे दिन गुजर रहे हैं राजनीतिक दलों, खासकर टीएमसी और बीजेपी नेताओं के बीच आरोप-प्रत्यारोप और अमर्यादित बयान की बाढ़ आ गई है। आए दिन दोनों तरफ से विवादित बयानों की बौछार हो रही है। आने वाले दिनों में इसके और तेज होने की पूरी संभावना है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;