बेंगलुरु: मौत का जिम्मेदार कौन? प्रीस्कूल बिल्डिंग से गिरने वाली 4 साल की बच्ची की मौत, परिजनों ने उठाए सवाल

पुलिस ने शुक्रवार को कहा, प्री-स्कूल में पढ़ने वाली जियाना एन जीतो 22 जनवरी को खेलते समय तीसरी मंजिल से गिर गई और उसके सिर पर गंभीर चोटें आई थीं। उसे बेंगलुरु के हेब्बल इलाके के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

बेंगलुरु के चेल्लेकेरे इलाके में एक प्री-स्कूल बिल्डिंग की तीसरी मंजिल से गिरने वाली चार साल की लड़की की मौत हो गई।

पुलिस ने शुक्रवार को कहा, प्री-स्कूल में पढ़ने वाली जियाना एन जीतो 22 जनवरी को खेलते समय तीसरी मंजिल से गिर गई और उसके सिर पर गंभीर चोटें आई थीं। उसे बेंगलुरु के हेब्बल इलाके के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

जियाना केरल के जीतो टॉमी जोसेफ और बिनीटा थॉमस की बेटी थी। दंपति सॉफ्टवेयर पेशेवर हैं और बेंगलुरु में बस गए हैं। पुलिस मामले में स्कूल प्रशासन द्वारा अभिभावकों को मामले को "दबाने और गुमराह करने" के प्रयास की जांच कर रही है।

सूत्रों ने बताया कि बच्ची के दीवार पर चढ़ने और गिरने के बाद भी स्कूल प्रशासन को ध्यान नहीं आया। अधिकारियों ने वास्तविक कारण को छुपाने की कोशिश की जिसके कारण यह दुखद घटना हुई। परिवार ने पुलिस को बताया है कि लड़की डे-केयर में एक दीवार से टकरा गई और गिर गई। बाद में स्कूल ने आगे आकर कहा कि वह तीसरी मंजिल से गिर गई है।

जियाना एक प्रतिभाशाली बच्ची थी और उसने छोटी उम्र में ही संगीत सीख लिया था। उसे गाना और पेंटिंग करना पसंद था।


परिवार ने दावा किया कि जियाना को ऊंचाई से डर लगता था और उसके छत पर जाने की संभावना नहीं थी। इस संबंध में स्कूल और प्रिंसिपल के खिलाफ आईपीसी की धारा 304ए के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है और पुलिस जांच में जुट गई है।

प्रारंभिक जांच में, केंद्र की महिला सहायिका ने कहा कि जब पीड़िता गिरी तो वह अन्य बच्चों को खिलाने और उनकी देखभाल करने में व्यस्त थी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;