बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा का चुनाव आयोग को ठेंगा! रोक के बावजूद किया प्रचार, आयोग ने भेजा नोटिस

चुनाव आयोग ने भोपाल से बीजेपी प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर को नोटिस भेजा है। आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में आयोग ने प्रज्ञा पर तीन दिनों तक चुनाव प्रचार करने पर रोक लगाई थी। आरोप है कि बावजूद इसके प्रज्ञा ठाकुर ने चुनाव प्रचार किया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

लोकसभा चुनाव में बीजेपी नेताओं और प्रत्याशियों द्वारा चुनाव आयोग के आदेशों की धज्जियां उड़ाने का सिलसिला जारी है। भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर पर एक बार फिर चुनाव आयोग के आदेश का उल्लंघन करने का आरोप लगा है। चुनाव आयोग द्वारा चुनाव प्रचार पर रोक लगाने के बावजूद प्रज्ञा ठाकुर पर चुनाव प्रचार करने का आरोप लगा है। इसे लेकर चुनाव आयोग ने भोपाल से बीजेपी प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर को नोटिस भेजा है। आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में आयोग ने प्रज्ञा पर तीन दिनों तक चुनाव प्रचार करने पर रोक लगाई थी। आरोप है कि बावजूद इसके प्रज्ञा ठाकुर ने चुनाव प्रचार किया।

एटीएस के पूर्व चीफ शहीद हेमंत करके का साध्वी प्रज्ञा ने अपमान किया था। प्रज्ञा ने कहा था कि उनके श्राप के करण हेमंत करके की मौत हुई थी। इस बयान के बाद साध्वी प्रज्ञा की चौतरफा निंदा हुई थी। कड़ी निंदा के बाद प्रज्ञा ने अपना बयान वापस ले लिया था, लेकिन माफी नहीं मांगी थी। चुनाव आयोग ने बीजेपी उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर के बयान की कड़ी निंदा करते हुए उन्हें भविष्य में इस तरह के बयान नहीं देने की चेतावनी दी थी। साथ ही तीन दिनों तक चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी थी।

इसके अलावा प्रज्ञा ठाकुर ने बाबरी मस्जिद को लेकर भी विवादित बयान दिया था। प्रज्ञा ने एक बयान में कहा था, “राम मंदिर हम बनाएंगे। ढांचे को तोड़ने में मैंने भी हिस्सा लिया था। मैंने ढांचा चढ़कर तोड़ा था, इस पर मुझे गर्व है, मुझे ईश्वर ने शक्ति दी थी, हमने देश का कलंक मिटाया है।” इस बयान पर भी जिला निर्वाचन अधिकारी सुदाम खाड़े की ओर से प्रज्ञा ठाकुर को नोटिस जारी किया गया था।

Published: 5 May 2019, 12:02 PM
लोकप्रिय