जहांगीरपुरी में पुलिस की बड़ी कार्रवाई! मुठभेड़ में हथियार सप्लायर अरेस्ट, दंगाइयों को हथियार सप्लाई करने के थे आरोप

जहांगीरपुरी में हुए सांप्रदायिक दंगों के दंगाइयों को आरोपियों ने हथियार सप्लाई किए थे या नहीं, इसकी पुलिस जांच कर रही है। पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) बृजेंद्र कुमार यादव ने आईएएनएस को बताया, 'हम फिलहाल उनसे पूछताछ कर रहे हैं।'

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली पुलिस ने जहांगीरपुरी इलाके के एक प्रमुख हथियार आपूर्तिकर्ता को एक संक्षिप्त मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है, जिसमें आरोपी को गोली लगी। एक अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी। आरोपी की पहचान दिल्ली के जहांगीरपुरी निवासी राजन उर्फ राहुल (38) के रूप में हुई है, जो पहले भी 70 आपराधिक मामलों में शामिल था।

जहांगीरपुरी में हुए सांप्रदायिक दंगों के दंगाइयों को आरोपियों ने हथियार सप्लाई किए थे या नहीं, इसकी पुलिस जांच कर रही है। पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) बृजेंद्र कुमार यादव ने आईएएनएस को बताया, 'हम फिलहाल उनसे पूछताछ कर रहे हैं।'

ऑपरेशन का विवरण साझा करते हुए, डीसीपी ने कहा कि आरोपी के बारे में एक गुप्त सूचना मिली थी कि वह बाहरी उत्तर और आसपास के जिलों में अपराधियों को बेचने के लिए आग्नेयास्त्रों की एक खेप लेकर आएगा।

गुप्त सूचना के आधार पर शाहबाद डेयरी क्षेत्र में रोहिणी के सेक्टर-36 में जाल बिछाया गया और आरोपी को उस समय रोक लिया गया, जब वह बवाना रोड की तरफ से एक स्कूटी पर सेक्टर 36 रोहिणी की ओर आ रहा था।


डीसीपी ने कहा, "पुलिस पार्टी को देखते ही आरोपी ने अपने देश में बनी पिस्तौल से पुलिस पर गोलियां चला दीं और पुलिस की टीम ने आरोपी की गतिविधि को रोकने के लिए और उसे मौके से भागने से रोकने के लिए 3 राउंड फायरिंग की। एक गोली आरोपी के दाहिने पैर में लगी।"

यह भी पाया गया कि आरोपी पुलिस के साथ मुठभेड़ के दो पिछले मामलों, आर्म्स एक्ट, स्नैचिंग, चोरी और एनडीपीएस के मामलों में भी शामिल था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia