राजस्थान सरकार का बड़ा फैसला, रोडवेज में विवाहित बेटियां अब अनुकंपा पर नौकरी पाने की पात्र होंगी

अभी तक निगम में कर्मचारी की मृत्यु पर आश्रित के तौर पर पुत्र, दत्तक पुत्र, अविवाहित पुत्री, तलाकशुदा पुत्री, विधवा पुत्री या पत्नी को अनुकंपा नियुक्ति देने का प्रावधान था। हालांकि अब गहलोत सरकार ने शादीशुदा बेटियों को भी नौकरी देने का फैसला किया है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

राजस्थान में अब विवाहित बेटी भी अपने पिता की मौत के बाद राजस्थान रोडवेज में अनुकंपा के आधार पर नौकरी के लिए पात्र होगी। राजस्थान में कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार ने इस संबंध में राजस्थान राज्य सड़क परिवहन निगम (आरएसआरटीसी) के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। अधिकारियों ने सोमवार को इसकी पुष्टि की।

हालांकि, पहले इस पर कोई प्रावधान नहीं था। हालांकि सरकार के इस फैसले से अब राजस्थान रोडवेज में 35 नियुक्तियां की जाएंगी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि राजस्थान रोडवेज में ऐसे करीब 35 प्रस्ताव लंबे समय से नियमों में प्रावधान के अभाव में लंबित थे। उन्होंने कहा, कुछ समय पहले हमने सरकार को प्रस्ताव भेजा था, जिस पर अब सरकार ने नियुक्तियों की इजाजत देने का आदेश दिया है।


अभी तक निगम में कर्मचारी की मृत्यु पर आश्रितों को अनुकंपा नियुक्ति देने का प्रावधान था जिसमें पुत्र, दत्तक पुत्र, अविवाहित पुत्री, तलाकशुदा पुत्री, विधवा पुत्री या पत्नी शामिल हैं। अगर कोई व्यक्ति अविवाहित है, तो आश्रित में व्यक्ति का भाई, माता या पिता शामिल होगा। हालांकि अब सरकार ने शादीशुदा बेटियों को भी नौकरी देने का फैसला किया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 15 Mar 2022, 1:23 PM