उन्नाव मामले में एसपी का बड़ा बयान, खेत में बेहोश मिलीं 3 नाबालिग दलित लड़कियों में से 2 की मौत, जांच जारी

उन्नाव मामले में एसपी का कहना है कि असोहा थाना क्षेत्र में 3 लड़कियां अपने खेत में बेहोशी की हालत में मिलीं। दो लड़कियों को डॉक्टर ने मृत घोषित किया और एक को इलाज के लिए रेफर किया गया है। घटनास्थल पर काफी झाग पड़ा मिला, प्रथम दृष्टया जहर के कुछ लक्षण हैं।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

विनय कुमार

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में दलित लड़कियों की मौत का मामला अब तूल पकड़ लिया है। बुधवार को असोहा के खेत में तीन दलित नाबालिग लड़कियां संदिग्ध हालत में मिली थीं, जिसमें दो की मौत हो गई है, जबकि एक का इलाज कानपुर के अस्पताल में चल रहा है। इस बीच एसपी आनन्द कुलकर्णी का बयान आया है।

एसपी का कहना है कि असोहा थाना क्षेत्र में 3 लड़कियां अपने खेत में बेहोशी की हालत में मिलीं। दो लड़कियों को डॉक्टर ने मृत घोषित किया और एक को इलाज के लिए रेफर किया गया है। घटनास्थल पर काफी झाग पड़ा मिला, प्रथम दृष्टया जहर के कुछ लक्षण हैं। जांच के लिए 6 टीमें गठित की गई हैं।


बता दें कि असोहा थाना क्षेत्र के बबुरहा गांव में तीन लड़कियां खेत में बेहोशी के हालात में मिली थीं। तीन में दो लड़कियों की मौत हो चुकी है, जबकि एक की हालत नाजुक है। लड़की की मां का कहना है कि लड़कियों के हाथ-पांव नहीं बंधे हुए थे। इस मामले के सामने आने के बाद विपक्ष ने योगी सरकार को घेरा।

जिग्नेश मेवाणी ने कहा, “उत्तर प्रदेश के सभी लोगों से मेरी अपील है की जब तक उन्नाव की दुर्घटना की पीड़ित बहनों के आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जाता, तब तक उनकी लाश को स्वीकार न करें, न्याय के लिए दबाव बनाएं, एक बहन की अच्छे से अच्छे अस्पताल में चिकित्सा की जाए।”

समाजवादी पार्टी ने कहा, “बेटियों के लिए काल बन चुके बीजेपी शासित यूपी में सत्ता संरक्षित नृशंस अत्याचार की एक और विचलित कर देने वाली घटना का केंद्र बना उन्नाव! जंगल में पेड़ से बांध कर दो दलित लड़कियों की हत्या, एक अति गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती, अत्यन्त दुखद! दरिंदों को कठोरतम सजा दिला हो न्याय।”

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia