2022 में कोविड के खिलाफ लड़ाई में मिल सकती है बड़ी सफलता, नई दवाएं कर सकती हैं बड़ी मदद- डब्ल्यूएचओ

यूरोपीय दवा एजेंसी ने औपचारिक मंजूरी से पहले दो कोविड-19 एंटीवायरल गोलियों- फाइजर की पैक्सलोविड और मर्क की मोलनुपिरवीर के उपयोग की सिफारिश की है। हंस क्लूज ने कहा कि मुझे नई एंटी-वायरल दवाओं के आने से काफी प्रोत्साहन मिला है।

 फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के यूरोप के क्षेत्रीय निदेशक हंस क्लूज ने कहा है कि 2022 में कोविड-19 के खिलाफ नई दवाओं के आने से गंभीर स्थिति का सामना कर रहे कोरोना वायरस के मरीजों के बचने की संभावना काफी बढ़ जाएगी। यूरोपीय दवा एजेंसी ने औपचारिक मंजूरी से पहले दो कोविड-19 एंटीवायरल गोलियों- फाइजर की पैक्सलोविड और मर्क की मोलनुपिरवीर के उपयोग की सिफारिश की है।

क्लूज ने तास न्यूज एजेंसी को बताया, "मुझे नई एंटी-वायरल दवाओं से भी प्रोत्साहन मिला है, जिनकी 2022 में बाजार में आने की संभावना है, जो गंभीर कोविड-19 के साथ अस्पताल में भर्ती रोगियों के जीवित रहने की संभावना को बहुत बढ़ा देगी।" पैक्सलोविड और मोलनुपिरवीर दोनों की ओर से उच्च जोखिम वाले रोगियों में कोविड-19 से अस्पताल में भर्ती होने या मृत्यु की संभावना को क्रमश: 89 प्रतिशत और 30 प्रतिशत कम करने का दावा किया गया है।


क्लूज ने इस बात पर भी जोर दिया कि अगली पीढ़ी (नेक्सट जनरेशन) के टीके नए उभरते वैरिएंट्स के खिलाफ अधिक प्रभावी होंगे। उन्होंने कहा, "मैं भविष्य की भविष्यवाणी नहीं कर सकता। लेकिन यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि वर्तमान टीके कोविड-19 टीकों की पहली पीढ़ी हैं। भविष्य के टीकों को नए या उभरते हुए वैरिएंट्स के लिहाज से बदल दिया जाएगा और अनुकूलित किया जाएगा, जिससे वे अधिक प्रभावी हो जाएंगे।"

फाइजर के अनुसार, प्रयोगशाला परीक्षणों से पता चलता है कि पैक्सलोविड तेजी से फैलने वाले ओमिक्रॉन वैरिएंट के खिलाफ काम करना जारी रखती है। सीईओ अल्बर्ट बौर्ला ने अनुमान लगाया कि गोलियां लेने वाले प्रत्येक 100,000 कोविड रोगियों में देखा गया कि गोलियां 1,200 मौतों और 6,000 अस्पताल में भर्ती होने की संभावना को टाल सकती हैं।


अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने एक बयान में कहा, मोलनुपिरवीर के लिए प्राधिकरण 18 वर्ष से अधिक उम्र के वयस्कों तक सीमित है, जिन्हें गंभीर बीमारी का उच्च जोखिम है और जिनके लिए वैकल्पिक एफडीए-अधिकृत उपचार विकल्प सुलभ या चिकित्सकीय रूप से उपयुक्त नहीं हैं। यह गर्भवती महिलाओं में उपयोग के लिए भी अनुशंसित नहीं है।

कंपनियों की ओर से बताया गया है कि फाइजर और मर्क दोनों की गोलियां कोविड होने के 3-5 दिनों के भीतर जल्दी ली जानी चाहिए और पांच दिनों के लिए दिन में कई बार कई गोलियों की आवश्यकता होती है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia