नीतीश सरकार में शामिल BJP विधायक ने शराबबंदी के खिलाफ खोला मोर्चा, कहा- कृषि कानून की तरह वापस हो

बीजेपी विधायक हरिभूषण ठाकुर ने आरोप लगाया कि बिहार पुलिस ही शराब बिकवा रही है। उन्होंने कहा कि जहां शराब बिकती है, वहां पुलिस नहीं जा रही है और जो नहीं बेचता है, वहां पांच-पांच बार पुलिस जाकर लोगों को धमकाती है। उन्होंने कहा कि रक्षक ही भक्षक बना हुआ है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राज्य में शराबबंदी कानून का कड़ाई से पालन करवाने के लिए जहां अधिकारियों को सख्त निर्देश दे रहे हैं, वहीं सरकार में शामिल बीजेपी ने अब कृषि कानून की तरह शराबबंदी कानून को भी वापस लेने की मांग की है। बीजेपी विधायक हरिभूषण ठाकुर ने मंगलवार को कहा कि 96 प्रतिशत किसानों को फायदा देने वाला तीन कृषि कानून जिस तरह जनदबाव में वापस लिया गया, उसी तरह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शराबबंदी कानून वापस ले लें। उन्होंने हालांकि शराबबंदी कानून को फायदे वाला बताया।

बीजेपी विधायक हरिभूषण ठाकुर ने आरोप लगाया कि बिहार पुलिस ही शराब बिकवा रही है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में पुलिस की मनमानी चल रही है। जहां शराब बिकती है, वहां पुलिस नहीं जा रही है और जो नहीं बेचता है, वहां पांच-पांच बार पुलिस जाकर लोगों को धमकाती है। उन्होंने कहा कि रक्षक ही भक्षक बना हुआ है।


हालांकि, बीजेपी विधायक हरिभूषण ठाकुर ने नीतीश कुमार को विकास पुरूष बताते हुए कहा कि वे बहुत अच्छा काम कर रहे हैं, लेकिन तंत्र ही उनको फेल कर रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में शराबबंदी कानून अब हम लोगों पर भारी पड़ रहा है।

गौरतलब है कि बिहार में इस महीने के प्रारंभ में राज्य के विभिन्न हिस्सों में शराब पीने से कई लोगों की मौत हो गई थी, जिससे सरकार की किरकिरी हुई थी। इसके बाद सीएम नीतीश ने शराबबंदी कानून को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों की एक समीक्षा बैठक की थी। करीब सात घंटे चली इस बैठक में मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को शराबबंदी कानून का सख्ती से पालन करवाने का निर्देश दिया। इसके बाद पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia