नकल को लेकर सुर्खियों में रहने वाला बिहार बोर्ड सख्त, एग्जाम सेंटर में जूते-मोजे पर बैन, जानें और क्या हैं नियम

बिहार बोर्ड ने इस बार परीक्षार्थियों के जूते-मोजे पहनकर आने पर बैन लगा दिया है। इसका नजारा सोमवार सुबह विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर देखने को भी मिला। एग्जाम सेंटर पर किसी भी परीक्षार्थी को जूते मोजे के साथ प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में परीक्षाओं में नकल को लेकर अक्सर हमेशा सुर्खियों में रहने वाला बिहार बोर्ड इस बार सख्त दिखाई दे रहा है। बिहार बोर्ड की 12वीं की परीक्षाएं में किसी भी तरह से नकल ना हो इसके लिए बोर्ड ने फैसला किया है कि उत्तरपुस्तिका और ओएमआर शीट पर परीक्षार्थियों की फोटो चिपकी होगी।बता दें कि बिहार बोर्ड की इंटरमीडिएट की परीक्षाएं आज यानी 3 फरवरी से पूरे प्रदेश में शुरू हो रही है।

इसके अलावा बिहार बोर्ड ने इस बार परीक्षार्थियों के जूते-मोजे पहनकर आने पर बैन लगा दिया है। इसका नजारा सोमवार सुबह विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर देखने को भी मिला। पटना के जेडी विमेंस कॉलेज में किसी भी परीक्षार्थी को जूते मोजे के साथ प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई। इस संबंध में जेडी वीमेंस कॉलेज परीक्षा केंद्र पर परीक्ष इंचार्ज एके यादव ने बताया कि परीक्षा केंद्र में विद्यार्थीयों को जूते और मौजे पहनकर अंदर प्रवेश नहीं दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस केंद्र पर लगभग 1900 विद्यार्थी परीक्षा में बैठ रहे हैं।


वहीं बिहार राज्य परीक्षा समिति के चेयरमैन आनंद किशोर ने कहा कि परीक्षा केंद्रों में परीक्षार्थियों को किसी भी प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक सामान साथ ले जाने पर भी रोक लगाई गई है।

बता दें कि बारहवीं की इस परीक्षा में इस बार 12.05 लाख छात्र और छात्राएं बैठेंगे। बिहार बोर्ड के इंटरमीडिएट की परीक्षाएं दो शिफ्ट में होंगी। पहले शिफ्ट की परीक्षा सुबह 9:30 बजे से शुरू होगी और दूसरे शिफ्ट की परीक्षा दोपहर 1:45 से होगी। इस साल, 12.5 लाख (12,05,390) छात्रों ने परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन किया है, जिसमें 5.38 लाख लड़कियां और 6.56 लाख लड़के शामिल है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 03 Feb 2020, 12:02 PM