फिर सुर्खियों में बिहार बोर्ड, सोशल साइंस का पेपर लीक होने के बाद रद्द, 3 गिरफ्तार, तेजस्वी ने उठाया था मुद्दा

बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा में हुए पेपर लीक को लेकर बड़ा फैसला लिया गया है। बोर्ड ने सोशल सांइस पेपर को रद्द करने का फैसला लिया है। पेपर लीक मामले में अब तक 3 लोगों की गिरफ्तारी हुई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

विनय कुमार

बिहार बोर्ड की परीक्षा एक बार फिर सुर्खियों में है। शुक्रवार को पहली पाली में ली गयी मैट्रिक की सोशल साइंस विषय की परीक्षा को रद्द कर दिया है। बताया जा हा है कि पहली पाली का पेपर परीक्षा शुरू होने के पहले ही वायरल होने के कारण बोर्ड ने यह निर्णय लिया है। रद्द हुई परीक्षा फिर से आठ मार्च को ली जायेगी। इस लिक कांड में जमुई जिले के झाझा स्थित एसबीआइ की झाझा शाखा के तीन कर्मियों को गिरफ्तार किया गया है।

डीएम अवनीश कुमार ने बताया की बैंक के सीसीटीवी फुटेज खंगालने के बाद कर्मी की संलिप्तता सामने आई है, जिसके बाद एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

खबरों के मुताबिक, सीएम नीतीश कुमार ने बिहार बोर्ड के अध्यक्ष से पूरे मामले की जानकारी ली थी और जांच करने और पेपर लीक बात सही पाये जाने पर परीक्षा रद्द करने का निर्देश दिया था। सीएम नीतीश कुमार ने यह निर्देश विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव की ओर से यह मामला उठाया जाने के बाद दिया था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia