गोडसे को देशभक्त बताने पर नीतीश बोले- प्रज्ञा का बयान बर्दाश्त के लायक नहीं, बीजेपी बाहर करने पर करे विचार

साध्वी के ‘नाथूराम गोडसे देशभक्त हैं’ बाले बयान पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा, ‘ये सब हम बर्दाश्त नहीं कर सकते। बीजेपी को उन्हें बाहर निकालने पर जरूर विचार करना चाहिए। ये बीजेपी का अंदरूनी मामला है। एक्शन लेना पार्टी का काम है।’

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने वाले बयान पर अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। नितीश कुमार ने कहा है इस तरह के बयान को किसी भी रूप में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और साध्वी के इस बयान के बाद बीजेपी को उन्हें पार्टी से बाहर करने पर विचार करना चाहिए।

नीतीश कुमार ने कहा, ‘’ये सब हम बर्दाश्त नहीं कर सकते। बीजेपी को उन्हें बाहर निकालने पर जरूर विचार करना चाहिए। ये बीजेपी का अंदरूनी मामला है। एक्शन लेना पार्टी का काम है।’’ उन्होंने कहा, ‘’हम अपराध, भ्रष्टाचार और सांप्रदायिकता से बिल्कुल भी समझौता नहीं कर सकते। हमारी राय स्पष्ट है।’’

गौरतलब है कि अभी कुछ दिनों पहले ही साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने अपने एक बयान में कहा था, ‘‘नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे। गोडसे को आतंकी बोलने वाले खुद के गिरेबान में झांक कर देखें। अबकी बार चुनाव में ऐसा बोलने वालों को जवाब दे दिया जाएगा।’’

प्रज्ञा के इस बयान के बाद बीजेपी ने आधिकारिक रूप से कहा था कि साध्वी के इस बयान से पार्टी का कोई लेना देना नहीं है यह उनका निजी बयान है। बीजेपी ने साध्वी से इसके लिए माफी मांगने को भी कहा था। हालांकि बाद में साध्वी ने माफी मांगते हुए कहा था कि वे इस मुद्दे पर पार्टी लाइन पर चलेंगी।

नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने का बयान देकर प्रज्ञा की देशभर में किरकरी हो गई थी। साध्वी के इस बयान पर विपक्षी दलों ने इसकी घोर निंदा करते हुए इस बयान को देशद्रोही तक बता दिया था।

लोकप्रिय