बिहार के डीजीपी को अपराधियों से खौफ, बताया जान का खतरा, तेजस्वी यादव ने ‘सुशासन बाबू’ से पूछे ये सवाल

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश कुमार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि अगर राज्य के डीजीपी इतने डरे-सहमे हुए है तो आम आदमी का क्या होगा? अपराधी सरेआम आईपीएस को पीट रहे है, पुलिस अधिकारियों को गोली मार रहे है, बंधक बना रहे है। आम नागरिक डरा हुआ है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय को अपराधी कभी भी गोली मार सकते है। यह हम नहीं कह रहे हैं कि यह खुद डीजीपी कह रहे हैं। इस पर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश कुमार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि अगर राज्य के डीजीपी इतने डरे-सहमे हुए है तो आम आदमी का क्या होगा? अपराधी सरेआम आईपीएस को पीट रहे है, पुलिस अधिकारियों को गोली मार रहे है, बंधक बना रहे है। आम नागरिक डरा हुआ है।

दरअसल, सारण के मरौढ़ा में अपराधियों के अंधाधुन फायरिंग में शहीद हुए दो पुलिसकर्मियों के शवों पर पुष्पांजलि करने पहुंचे डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय को ग्रामीणों और परिजनों के विरोध का सामना करना पड़ गया। इसके बाद डीजीपी ने मीडिया पर अपनी भड़ास निकाल दी। डीजीपी ने मीडिया से कहा कि अपराधी डीजीपी की भी हत्या कर सकते हैं।

मारे गए पुलिसकर्मियों के परिजनों द्वारा मामले की जांच सीबीआई से कराए जाने की मांग पर डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय पहले तो उखड़ गए, लेकिन बाद में उन्होंने कहा कि यह फैसला करना उनके अधिकारक्षेत्र में नहीं है, और जब तक वह खुद को इस जांच में अक्षम नहीं पाएंगे, सीबीआई से जांच करवाने का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता।

वही डीजीपी ने कहा कि हम अपने शहीद जवानों की कुर्बानी बेकार नही जाने देंगे। अपराधियों को खोज कर निकालेंगे जिन्होंने इस घटना को अंजाम दिया है।

लोकप्रिय