बिहार: पटना में फिर भारी बारिश का अलर्ट, जलजमाव की वजह से नरकीय जीवन जीने को मजबूर 

बिहार के पटना और अन्य इलाकों में बारिश के बाद बदइंतजामी को लेकर नीतीश कुमार की सरकार सवालों के घेरे में है। वहीं मौसम विभाग ने एक बार फिर भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में भारी बारिश और बाढ़ से मरने वालों की संख्या बढ़कर 42 हो गयी है। हालांकि पटना में बारिश रुकी हुई है और राहत बचाव कार्य जारी है। लेकिन मौसम विभाग की अलर्ट ने एक बार फिर पटनावासियों के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है।

मौसम विभाग ने पटना, वैशाली, बेगूसराय और खगड़िया के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। साथ ही भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

गौरतलब है कि बिहार में जबरदस्त बारिश के बाद जलजमाव और बाढ़ की वजह से नारकीय जीवन जी रहे लोगों को अभी राहत नहीं मिल पा रही है। सबसे ज्यादा हालात बिहार की राजधानी पटना की है। जहां बारिश की वजह से कई इलाकें अभी भी डूबे हुए हैं। पीडि़तों को राहत पहुंचाने के लिए प्रशासन भले ही पूरी ताकत से लगा हो, लेकिन तीन दिन बाद भी स्थितियां जस की तस बनी हुई हैं। पटना नगर के जल-जमाव वाले इलाकों में तो अब महामारी का खतरा मंडराता दिख रहा है। वहीं भागलपुर के 265 गांव बाढ़ की चपेट में हैं।

पटना के कंकड़बाग इलाके में एक महिला को रेस्क्यू कर बाहर निकाला गया तो वह रोने लगी। बारिश के चलते कई दिनों से घर में कैद महिला और उसके परिवार को बुधवार को सुरक्षित बाहर निकाला गया। महिला से जब पूछा गया कि उन्हें क्या परेशानी हुई, तो वह दिक्कतों को याद करके फूट-फूटकर रोने लगीं। रोते हुए महिला बस इतना ही बोल पाई कि बहुत दिक्कत हुई। उसने आगे कहा कि कभी सोचा नहीं था कि ऐसा भी होगा।

पटना और अन्य इलाकों में बारिश के बाद बदइंतजामी को लेकर नीतीश कुमार की सरकार सवालों के घेरे में है। शहर के पॉश माने जाने वाले इलाकों में कई फीट पानी इकट्ठा है। गली-मुहल्लों में नाव चल रही है।

Published: 2 Oct 2019, 4:59 PM
लोकप्रिय