बिहार: सीतामढ़ी में मॉब लिंचिंग, चोरी के आरोप में भीड़ ने युवक को पीट-पीटकर मार डाला, 150 लोगों पर केस दर्ज

<b> </b>बिहार के सीतामढ़ी जिले के रीगा थाना अंतर्गत रमनगरा गांव के निकट एक युवक को एक पिकअप वैन चालक के इस आरोप पर भीड़ ने कथित रूप से पीट-पीटकर मार डाला कि उसने उससे रूपये छीने हैं।

फोटो: सोशल मीडिया&nbsp;
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश में मॉब लिंचिंग की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। अब बिहार के सीतामढ़ी जिले से भी ऐसा ही एक मामला सामने आया है। सीतामढ़ी के रीगा थाना अंतर्गत रमनगरा गांव के निकट एक युवक को एक पिकअप वैन चालक के इस आरोप पर भीड़ ने कथित रूप से पीट पीटकर मार डाला कि उसने उससे रुपये छीने हैं। मृतक का नाम रूपेश झा बचाया जा रहा है। पुलिस ने करीब 150 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। तमाशबीन लोगों ने घटना का विडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

मामले पर पुलिस उपाधीक्षक कुमार वीर धीरेंद्र ने बताया कि पीड़ित का नाम रूपेश झा था। उसे रविवार को गांव वालों ने पीट पीटकर मार डाला। वह सिंगरहिया गांव का रहने वाला था। घटना के बारे में पता चलते ही पहले तो उसे सदर अस्पताल ले जाया गया। जहां से उसे पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के लिए रेफर कर दिया गया। जहां बाद में उसकी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि करीब 200 लोगों की भीड़ ने उसे लात, घूंसों और डंडों से पीटा।

उन्होंने आगे कहा कि इस मामले की जांच अभी की जा रही है। मौत के पीछे की असली वजह जांच के बाद ही सामने आएगी। प्राथमिक जांच में केवल इतना ही पता चल पाया है कि रुपेश झा ने एक पिकअप वैन चालक के पैसे छीनकर मोटरसाइकिल से भागने की कोशिश की थी। जिसके बाद वैन चालक लुटेरा-लुटेरा चिल्लाने लगा। उसकी आवाज सुनकर वहां गांव वालों की भीड़ जुट गई और सबने रुपेश झा को लाठियों से पीटना शुरू कर दिया।

वहीं इस घटना को लेकर रुपेश झा के परिजनों का कहना है कि भीड़ ने उसे तब पीटा जब वह वाहन को ओवरटेक करने का प्रयास कर रहा था। उन्होंने साथ ही यह पूछा कि रुपेश झा द्वारा छीना गया रुपया उन्हें मिला।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 11 Sep 2018, 11:20 AM