बिहारः मोतिहारी में असिस्टेंट प्रोफेसर को जिंदा जलाने की कोशिश, वाजपेयी पर टिप्पणी से नाराज लोगों ने किया हमला

सरेआम मॉब लिंचिंग का यह वाकया आज सुबह का है। सेंट्रल यूनिवर्सिटी के समाजशास्त्र विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर संजय कुमार ने अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर एक फेसबुक पोस्ट में टिप्पणी की थी जिसमें उन्होंने इसे एक फासीवादी युग का अंत बताया था।

फोटो: नवजीवन
फोटो: नवजीवन
user

भाषा सिंह

एक तरफ जहां राजधानी दिल्ली में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर उन्हें श्रद्धांजलि देने गए समाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश पर बीजेपी समर्थकों ने हमला किया, वहीं बिहार के मोतीहारी स्थित केंद्रीय विश्वविद्यालय में एक असिस्टेंट प्रोफेसर संजय कुमार को वाजपेयी पर टिप्पणी करने के लिए जिंदा जलाने की कोशिश की गई।

खबर लिखे जाने तक संजय कुमार की हालत नाजुक बनी हुई है और उन्हें मोतीहारी से पटना के एम्स ले जाया जा रहा है। अभी तक पुलिस ने इस मामले में एफआईआर तक नहीं दर्ज की है। फिलहाल असिस्टेंट प्रोफेसर संजय कुमार जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे हैं।

सरेआम हुई मॉब लिंचिंग की यह घटना 17 अगस्त की सुबह का है। सेंट्रल यूनिवर्सिटी में समाजशास्त्र विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर संजय कुमार ने अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर एक फेसबुक पोस्ट लिखा, जिसमें उन्होंने इसे एक फासीवादी युग का अंत बताया। इसके बाद उनके पोस्ट पर गालियों और धमकियों का दौर शुरू हो गया। उनके सहकर्मी मृत्युंजय ने नवजीवन को बताया कि आज सुबह उनके फोन पर एक व्हाट्सअप मैसेज आया था, जिसमें उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई। मृत्युंजय ने बताया कि सुबह करीब 11-12 लोगों की भीड़ ने संजय के घर पर दावा बोल दिया। वे लोग संजय को पीटते हुए उन्हें घसीटते हुए नीचे लाते हैं। लोगों ने उनके सारे कपड़े फाड़ दिए और फिर उनके ऊपर पेट्रोल डालकर उन्हें जलाने की कोशिश की गई। इस पूरी घटना के चश्मदीद गवाह मृत्युंजय ने बताया कि बहुत मुश्किल से किसी तरह से संजय कुमार को वहां से निकालकर ये लोग अस्पताल पहुंचाने में सफल हुए।

मोतीहारी स्थित सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ बिहार के टीचर्स एसोसिएशन ने इस घटना की कड़ी निंदा की है। एसोसिएशन का कहना है कि यह सब एक सुनियोजित साजिश के तहत किया गया है और इसमें हमलावरों को विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर की शह भी हो सकती है। गौरतलब है कि यूनिवर्सिटी में 29 मई से शिक्षक वाइस चांसलर के खिलाफ नियमों का उल्लंघन करने, शिक्षकों को प्रताड़ित करने के मुद्दे पर आंदोलनरत हैं। बुरी तरह से घायल संजय कुमार की तरफ से पुलिस को जो शिकायती पत्र दिया गया है, उसमें राहुल आर पांडेय, संजय कुमार सिंह, अमन बिहारी वाजपेयी सहित कई लोगों के नाम दर्ज हैं। प्रमाण के तौर पर व्हाट्सअप पर आए धमकी वाले मैसेज को भी पुलिस को सौंप दिया गया है। फिलहाल संजय की स्थिति गंभीर बनी हुई है। उन्हें मोतीहारी से पटना के एम्स रेफर कर दिया गया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 17 Aug 2018, 8:43 PM