बिहारः नीतीश सरकार के मंत्री के भतीजे पर हत्या का आरोप, 50 हजार का इनाम घोषित

मंत्री लेसी सिंह का भतीजा आशीष कुमार सिंह 11 नवंबर 2021 को सरसी थाने में हत्या के आरोप में केस दर्ज होने के बाद से फरार है। रिंटू सिंह की 11 नवंबर को सरसी थाने के पास गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उनकी पत्नी अनुलिका सिंह ने आशीष के खिलाफ केस दर्ज कराया था।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार के पूर्णिया जिले की पुलिस ने शुक्रवार को पूर्व जिला पार्षद विश्वजीत सिंह उर्फ रिंटू सिंह की हत्या के मामले में नीतीश सरकार में मंत्री लेसी सिंह के भतीजे के सिर पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। मंत्री के भतीजे की पहचान आशीष कुमार सिंह उर्फ अथिया के रूप में हुई है।


आशीष कुमार सिंह 11 नवंबर, 2021 को सरसी पुलिस स्टेशन में हत्या की संबंधित आईपीसी धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज होने के बाद से फरार है। रिंटू सिंह की 11 नवंबर को सरसी थाने के पास गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पूर्णिया की पूर्व जिला पार्षद रिंटू की पत्नी अनुलिका सिंह ने आशीष कुमार सिंह के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी।


पूर्णिया के एसपी दयाशंकर ने कहा, "आशीष कुमार सिंह उर्फ अथिया जिले का कुख्यात अपराधी है। वह रिंटू सिंह की हत्या के आरोप का सामना कर रहा है। तब से वह फरार है, हमने उसके सिर पर 50 हजार रुपये का इनाम रखा है।" एसपी ने कहा, "हमने एसटीएफ को बिहार, उत्तर प्रदेश या अन्य राज्यों में भी आरोपी की तलाश करने के लिए कहा है। इसके अलावा, हमने एसडीपीओ बनमखी और एसएचओ सरसी को उसके स्थान का पता लगाने के लिए तकनीकी निगरानी करने के लिए आवश्यक निर्देश दिए हैं।"

गुरुवार को पूर्णिया में अज्ञात हमलावरों ने रिंटू सिंह के करीबी नीरज झा की गोली मारकर हत्या कर दी। झा की हत्या जिले के खजांची हाट थाने से महज 500 मीटर की दूरी पर की गई। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि फेस मास्क और हेलमेट पहने बाइक सवार दो हमलावरों ने झा पर गोलियां चला दीं। वह बाइक पर यात्रा कर रहा था। झा सड़क पर गिर गया और एक गोली उसे पीछे से लगी। पुलिस को दी शिकायत में झा के परिजनों ने आरोप लगाया कि रिंटू सिंह की हत्या में शामिल आरोपियों ने ही झा की हत्या में अहम भूमिका निभाई।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia