नीतीश के कैबिनेट विस्तार में बीजेपी को नहीं मिली जगह, बिहार एनडीए में पड़ चुकी है दरार?

नीतीश कैबिनेट के विस्तार में एक भी बीजेपी विधायक को जगह नहीं मिली है। जेडीयू के जिन सदस्यों ने मंत्री पद की शपथ ली है, उनमें अशोक चौधरी, श्याम रजक, एल प्रसाद, बीमा भारती, राम सेवक सिंह, संजय झा, नीरज कुमर और नरेंद्र नारायण यादव के नाम शामिल हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

लोकसभा चुनाव के नतीजों और मोदी सरकार के शपथ ग्रहण के बाद से ही बिहार एनडीए में दरार दिखने लगी है। ताजा उदाहरण नीतीश कैबिनेट के विस्तार में देखने को मिला है। रविवार को नीतीश कैबिनेट का विस्तार हुआ और जेडीयू के 8 सदस्यों ने मंत्री पद की शपथ ली। यहां गौर करने वाली बात यह है कि इस कैबिनेट के विस्तार में एक भी बीजेपी विधायक को जगह नहीं मिली है। जेडीयू के जिन सदस्यों ने मंत्री पद की शपथ ली है, उनमें अशोक चौधरी, श्याम रजक, एल प्रसाद, बीमा भारती, राम सेवक सिंह, संजय झा, नीरज कुमर और नरेंद्र नारायण यादव के नाम शामिल हैं।

बिहार कैबिनेट के विस्तार में बीजेपी से एक भी मंत्री नहीं लेने पर नीतीश कुमार ने सफाई दी है। उन्होंने कहा कि जेडीयू का कोटा खाली था, इसलिए जेडीयू को मंत्रिमंडल में जगह मिली। उन्होंने कहा कि जेडीयू और बीजेपी में कोई दिक्कत नहीं है, सबकुछ ठीक है।

गौरतलब है कि इससे पहले नीतश कुमार ने मोदी सरकार में जेडीयू की तरफ से मंत्री पद लेने से इनकार कर दिया था। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि जेडीयू के हिस्से में एक सांसद को मंत्री बनाने का प्रस्ताव मिला था, जिसे उन्होंने ठुकरा दिया। नीतीश कुमार ने कहा था कि जिस हिसाब से उनकी पार्टी ने बिहार में प्रदर्शन किया है और जीत दर्ज की है, उस हिसाब से एक मंत्री का प्रस्ताव मिलना ठीक नहीं था। नीतीश कुमार ने बताया था कि यही वजह है उन्होंने मंत्री पद लेने से मना कर दिया था। नीतीश कुमार ने कहा था कि केंद्र की बीजेपी सरकार को उनकी पार्टी का समर्थन तो जारी रहेगा, लेकिन वे मंत्र पद स्वीकार नहीं करेंगे।

वहीं मोदी कैबिनेट में शामिल नहीं होने पर एक बार फिर जेडीयू की ओर से सफाई आई है। जेडीयू के केसी त्यागी ने कहा, “जो प्रस्ताव दिया गया था वह जेडीयू को मंजूर नहीं था, इसलिए हमने फैसला किया है कि भविष्य में भी जेडीयू कभी भी एनडीए के नेतृत्व वाले केंद्रीय मंत्रिमंडल का हिस्सा नहीं होगी, यह हमारा अंतिम निर्णय है।”

मोदी सरकार के शपथ ग्रहण के दिन से ही बिहार एनडीए में दरार सामने आ रही है। लेकिन अब नीतीश कुमार ने कैबिनेट विस्तार में बीजेपी के विधायकों को जगह नहीं देकर इस पर मुहर लगा दी है कि बिहार एनडीए में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है।

Published: 2 Jun 2019, 12:39 PM
लोकप्रिय