बिहार: पटना में जलभराव के सवाल से पत्रकारों पर भड़के नीतीश कुमार, अब महामारी फैलने की आशंका

जब पत्रकारों ने जलभराव को लेकर नीतीश कुमार से सवाल किया तो भड़कते हुए कहा कि मैं पूछ रहा हूं कि देश और दुनिया के कितने हिस्सों में बाढ़ आई है? क्या पटना के कुछ हिस्सों में जमा पानी ही एकमात्र समस्या है? क्या हुआ अमेरिका में और मुंबई में?

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार की राजधानी पटना में पिछले तीन दिनों से बारिश बंद हो चुकी है, मगर बुधवार को भी शहर पानी से लबालब रहा। शहरभर में जमा पानी की निकासी नहीं हो पाने के कारण लोगों की मुसीबतें कम नहीं हुई हैं। इस बीच जलभराव के संबंध में प्रश्न पूछे जाने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पत्रकारों पर ही भड़क उठे।

जब पत्रकारों ने जलभराव को लेकर नीतीश कुमार से सवाल किया तो भड़कते हुए कहा, “मैं पूछ रहा हूं कि देश और दुनिया के कितने हिस्सों में बाढ़ आई है? क्या पटना के कुछ हिस्सों में जमा पानी ही एकमात्र समस्या है? क्या हुआ अमेरिका में और मुंबई में?” इस दौरान नीतीश कुमार को स्थानीय लोगों के गुस्से का भी सामना करना पड़ा।

मुख्यमंत्री ने पत्रकारों को जन-जागृति की भी नसीहत दे डाली। उन्होंने बाढ़ को प्राकृतिक आपदा बताया और कहा कि कई बार सूखे की भी स्थिति होती है। उन्होंने कहा कि पटना में पानी की जलनिकासी का काम चल रहा है और बाहर से बड़े पंप भी मंगवाए गए हैं। उन्होंने कहा कि जिन जगहों पर पानी जमा है, वहां शहर के विस्तार के समय से ही समस्या बनी हुई है। नीतीश ने कहा कि ये निचले हिस्से हैं, इसी कारण समस्या आ रही है।

गौरतलब है कि पटना के राजेंद्रनगर, कंकड़बाग, एसके पुरी सहित कई क्षेत्रों में अभी भी सड़कों पर पानी जमा है और लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। विभागीय आंकड़ों के अनुसार, भारी बारिश और बाढ़ से प्रदेश में अब तक 42 लोगों की मौत हो चुकी है।

दूसरी ओर पटना में महामारी की आशंका को देखते हुए फॉगिंग के साथ ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव किया जा रहा है। फूड पैकेट्स में हैलोजन टैबलेट्स भी दिए जा रहे हैं। दो मेडिकल मोबाइल यूनिट भी लगाए गए हैं।

Published: 2 Oct 2019, 5:59 PM
लोकप्रिय