बिहार : राज्यसभा का टिकट कटने के बाद आरसीपी सिंह को शांति की तलाश! पहुंचे संतों के द्वार

कहा जा रहा है कि आरसीपी सिंह शांति की तलाश में हैं। धर्म गुरुओं से मिलने की जानकारी उन्होंने स्वयं अपने फेसबुक वॉल पर पोस्ट भी की है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल (यूनाइटेड) के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह का राज्यसभा से पत्ता साफ होने के बाद पटना स्थित उनका आवास भी छिन गया। इसके बाद उनके खास माने जाने वाले पार्टी के प्रवक्ता अजय आलोक सहित चार नेताओं को भी बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। अब केंद्रीय मंत्री को लेकर भी तलवार लटकी हुई है, ऐसे में सिंह अब परेशानी से निकलने के लिए धर्म गुरु की चौखट पर पहुंचकर उनका आशीर्वाद ले रहे हैं। कहा जा रहा है कि आरसीपी सिंह शांति की तलाश में हैं। धर्म गुरुओं से मिलने की जानकारी उन्होंने स्वयं अपने फेसबुक वॉल पर पोस्ट भी की है।

संतो से आशीर्वाद के क्रम में वे हरिद्वार पहुंचे, जहां वे योगगुरु बाबा रामदेव से मिले। सिंह ने अपने फेसबुक पर पोस्ट करते हुए लिखा कि भारतीय योग को विश्व के कोने-कोने तक पहुंचाने वाले बाबा रामदेव से मुलाकात हुई और उनके साथ पतंजलि योगपीठ में स्थित वैदिक कन्या गुरुकुल का भ्रमण किया।

इस दौरान उन्होंने बाबा रामदेव के साथ योगाभ्यास भी किया। उन्होंने कहा कि योग को जीवन शैली के रूप में आत्मसात कराने में पतंजलि योगपीठ का बहुत बड़ा योगदान है।


केंद्रीय मंत्री सिंह इसके बाद निरंजनी अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरि महाराज से भी मिले और उनका आशीर्वाद लिया। इस के बाद उन्होंने स्वामी कैलाशानंद गिरि महाराज के साथ अपनी तस्वीर भी फेसबुक पर पोस्ट की।

सिंह अपनी हरिद्वार की यात्रा के दौरान शांतिकुंज हरिद्वार में शैलबाला पंड्या से मिलकर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया। सिंह के इन धर्म गुरुओं से आशीर्वाद लेने की तस्वीर पोस्ट करने के बाद लोग भी तरह-तरह की प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे हैं।

बहरहाल, सिंह को लेकर अब चर्चा भी खूब हो रही। कुछ लोग इसे सिंह के वैराग्य से भी जोड़ कर देख रहे हैं। अब देखना होगा आरसीपी सिंह के भविष्य में इन संतों का आशीर्वाद कुछ मदद दे पाता है या नहीं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia