बिहार: RRB-NTPC परीक्षा परिणाम के खिलाफ दूसरे दिन भी पटरियों पर उतरे छात्र, कई ट्रेन के मार्ग में करना पड़ा बदलाव

छात्रों का आरोप है कि एनटीपीसी सीबीटी 1 परीक्षा परिणाम में भारी गड़बड़ी हुई है। साथ ही ग्रुप डी में सीबीटी 2 का प्रावधान किया गया है, जो छात्रों के साथ घोर अन्याय है। छात्रों की मांग है कि परीक्षा का पुर्नमूल्यांकन कर रिजल्ट फिर से प्रकाशित किया जाए।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में रेलवे भर्ती बोर्ड-एनटीपीसी परीक्षा परिणाम में गड़बड़ी के आरोप लगाते हुए अभ्यार्थी मंगलवार को दूसरे दिन भी आंदोलनरत रहे। मंगलवार को राज्य के विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर छात्र बड़ी संख्या में पहुंचे और रेलवे पटरियों को जाम कर दिया, जिससे रेलवे के परिचालन पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा। छात्रों के प्रदर्शन के कारण कई ट्रेनों के मार्ग में परिवर्तन किया गया।

आरआरबी एनटीपीसी परीक्षा परिणाम में गडबड़ी का आरोप लगाते हुए छात्र मुजफ्फरपुर रेलवे स्टेशन पहुंचे और रेल पटरियों पर बैठ गए। इस दौरान बरौनी गोंदिया एक्सप्रेस करीब डेढ घंटे तक खड़ी रही। इसके बाद पुलिस के कई अधिकारियों पहुंचकर छात्रों को समझा-बुझाकर हटाने की कोशिश की। काफी मान-मनौव्वल के बाद छात्र वहां से हटे।

वहीं बिहारशरीफ रेलवे स्टेशन पर भी सैकड़ों की संख्या में अभ्यर्थियों ने पहुंचकर रेल ट्रैक को जाम करते हुए सरकार और रेलवे बोर्ड के खिलाफ उग्र प्रदर्शन किया और जमकर नारेबाजी की। रेलवे ट्रैक जाम किए जाने के कारण राजगीर से नई दिल्ली जाने वाली नई दिल्ली श्रमजीवी एक्सप्रेस काफी देर तक खड़ी रही। रेलवे ट्रैक जाम होने की सूचना के बाद स्थानीय प्रशासन के अलावा आरपीएफ के अधिकारी और जवान मौके पर पहुंचे और आक्रोशित छात्रों को समझाने की कोशिश में जुट गए। काफी मशक्कत के बाद ट्रैक से छात्रों को हटाया जा सका।

बिहार: RRB-NTPC परीक्षा परिणाम के खिलाफ दूसरे दिन भी पटरियों पर उतरे छात्र, कई ट्रेन के मार्ग में करना पड़ा बदलाव

मंगलवार को फतुहा, बक्सर और नवादा में भी छात्रों ने जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान छात्रों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। प्रदर्शनकारी छात्रों का आरोप है कि एनटीपीसी सीबीटी 1 परीक्षा के परिणाम में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी हुई है। साथ ही ग्रुप डी में सीबीटी 2 का प्रावधान किया गया है, जो छात्रों के साथ घोर अन्याय है। छात्रों की मांग है कि एनटीपीसी का परिणाम पुर्नमूल्यांकन कर फिर से प्रकाशित किया जाए और ग्रुप डी में सीबीटी 2 के प्रावधान को समाप्त किया जाए।

इधर, दानापुर मंडल के फतुहा और बक्सर स्टेशन पर हो रहे प्रदर्शन के कारण बुधवार को दुर्ग से खुलने वाली 13287 दुर्ग-राजेंद्र नगर टर्मिनल साउथ बिहार एक्सप्रेस का परिचालन रद्द कर दिया गया। पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि छात्रों के प्रदर्शन के कारण सात ट्रेनों के मार्ग में परिवर्तन किया गया है।

इसके अलावा 24 जनवरी को नई दिल्ली से प्रस्थान कर 25.01.2022 को इसलामपुर पहुंचने वाली 20802 नई दिल्ली-इसलामपुर मगध एक्सप्रेस का आंशिक समापन पटना जंक्शन पर किया गया और मंगलवार को इस्लामपुर से प्रस्थान करने वाली 18623 इस्लामपुर-हटिया एक्सप्रेस इस्लामपुर के बदले पटना जंक्शन से ही हटिया के लिए प्रस्थान करेगी।


गौरतलब है कि सोमवार को रेलवे भर्ती परीक्षा परिणाम में धांधली का आरोप लगा रहे हजारों छात्र पटना के राजेंद्र नगर टर्मिनल पहुंचे थे और रेल ट्रैक जामकर काफी देर तक प्रदर्शन किया था। इस दौरान छह घंटे तक रेलवे ट्रैक जाम रहा। छात्रों के प्रदर्शन के कारण कई ट्रेनों का परिचालन रद्द करना पड़ा था। बाद में छात्रों को हटाने के लिए पुलिस को लाठी भांजनी पड़ी और आंसू गैस के गोले भी दागने पड़े। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने भी पुलिस पर पथराव किया। काफी मशक्कत के बाद रेल ट्रैक खाली कराया जा सका था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia