बिहार: सीवान जेल में एक ही नाम का गड़बड़झाला, जिस कैदी को होना था रिहा वो अब भी जेल में, अपराधी निकला बाहर

बिहार के सीवान कारागार से एक अनोखा मामला सामने आया है। दो कैदियों के एक ही नाम होने से पैदा हुई गलतफहमी की वजह से जेल प्रशासन ने गलत कैदी को बेल पर रिहा कर दिया। मामला सामने आने के बाद पुलिस रिहा हुए कैदी को पकड़ने में जुटी हुई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार के सीवान जिले से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। दरअसल सीवान में बंद एक कैदी को सीजेएम कोर्ट ने जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया गया, लेकिन एक ही नाम के दो कैदी होने से जेल प्रशासन ने गलत कैदी को बेल पर रिहा कर दिया। बताया जा रहा है कि गलत रिलीज ऑर्डर जारी होने की वजह यह सब गड़बड़झाला हुआ है। इस घटना के बाद प्रशासन सकते में है।

दरअसल, बिहार के सीवान जेल में गुल मोहम्‍मद नाम के दो कैदी बंद थे। इनमें से एक कैदी ने जमानत की याचिका की मांग की थी, जिसे कोर्ट ने जमानत पर रिहा कर दिया। लेकिन रिलीज ऑर्डर जारी होने के बाद जेल प्रशासन ने जेल में बंद गुल मोहम्‍मद नाम के दूसरे कैदी को रिहा कर दिया। बताया जा रहा है कि गलतफहमी के कारण जो कैदी रिहा हो गया वो पेशेवर अपराधी है। फिलहाल पुलिस और जेल प्रशासन फरार कैदी की गिरफ्तारी के लिए भटक रही है।

इस घटना को लेकर जेल में बंद गुल मोहम्‍मद के वकील एमए खान ने बताया कि ऐसा जानबूझकर नहीं हुआ है, यह क्‍लर्क की गलती से हुआ है। इसे हम स्लिप ऑफ पेन कह सकते हैं।

चलिए बात करते है गुल मोहम्‍मद की जिसे गलती से छोड़ दिया गया है। बताया जा रहा है कि रिहा हुए गुल मोहम्मद शातिर अपराधी है और अभी उसके ऊपर मामला लंबित है। इस गुल मोहम्म्द गुठनी थाना क्षेत्र के डकैती कांड में गिरफ्तार किया गया था।

दूसरा गुल मोहम्मद असांव थाना क्षेत्र के सहसरांव गांव का निवासी है। इसी गुल मोहम्मद ने जमानत याचिका दाखिल की थी, जिसकी याचिका को मंजूर करते हुए जमानत दे दी गयी है। लेकिन लिपिकीय त्रुटि की वजह से उसे अब जेल में रहना पड़ रहा है।

लोकप्रिय