कांग्रेस में शामिल होने के बाद उदित राज का बीजेपी पर हमला, कहा- दलित आंदोलन का समर्थन करने की मुझे मिली सजा

कांग्रेस में शामिल होने के बाद प्रेस से बात करते हुए उदित राज ने कहा कि बीजेपी को दलित वोट तो चाहिए, लेकिन उन्हें दलित नेता नहीं चाहिए। बीजेपी चाहती है कि दलित नेता गूंगा-बहरा बनकर रहे। उन्होंने कहा कि मैं चुप नहीं रह सकता।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बीजेपी के दलित सांसद उदित राज ने कांग्रेस में शामिल होने के बाद दिल्ली के कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस से बात की। सबसे पहले उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का शुक्रिया अदा किया। प्रेस से बात करते हुए उदित राज ने बीजेपी पर कई गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि बीजेपी दलित विरोधी है। उन्होंने कहा कि भारत बंद के दौरान दलितों को समर्थन देने का बीजेपी ने मुझे सजा दी। उदित राज ने कहा कि 2018 में एससी/एसटी संशोधन को लेकर जब दलित सड़कों पर उतरे थे तो मैंने उनका खुला समर्थन किया था। विश्वविद्यालयों में 200 प्वॉइंट रोस्टर सिस्टम का भी मैंने विरोध किया था। उदित राज ने कहा कि यही वजह है कि बीजेपी मुझसे नाराज थी और मेरा टिकट काट दिया।

उदित राज ने कहा कि बीजेपी को दलित वोट तो चाहिए, लेकिन उन्हें दलित नेता नहीं चाहिए। बीजेपी चाहती है कि दलित नेता गूंगा-बहरा बनकर रहे। उन्होंने कहा कि मैं चुप नहीं रह सकता। उन्होंने कहा कि संसद में भी मैंने अलग-अलग मौकों पर दलितों से जुड़े मुद्दों को उठाया और पार्टी के स्टैंड का विरोध किया था।

उदित राज ने कहा कि यह वही बीजेपी है, जिसने 2014 के लोकसभा चुनाव में मौजूदा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को इस लायक भी नहीं समझा था कि उन्हें टिकट दिया जाए। उस वक्त रामनाथ कोविंद मेरे पास आए थे। उन्होंने मुझसे कहा था कि कुछ करवाइए। वे चुप रहे तो उन्हें बीजेपी ने राष्ट्रपति बना दिया। उदित राज ने कहा कि अगर मैं भी चुप रहता तो शायद ये मुझे प्रधानमंत्री बना देते, लेकिन मैं चुप रहे वाला नहीं था।

उन्होंने कहा कि मेरा टिकट काटकर बीजेपी ने यह साबित कर दिया कि वह सबसे बड़ी दलित विरोधी है। उदित राज ने कहा कि मुझे सर्वश्रेठ सांसद का अवॉर्ड मिल चुका है। बीजेपी के आंतरिक सर्वे में भी यह बात सामने आई थी कि जिस सीट से मैं सांसद हूं, वहां से बीजेपी जीत रही है, बावजूद इसके मुझे टिकट नहीं दिया गया।

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान उदित राज के साथ दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित भी मौजूद थीं। उन्होंने प्रेस से बात करते हुए कहा, “हम और उदित राज जी एक दूसरे को 20 सालों से जानते हैं। उदित राज देश से प्यार करते हैं, यह हम सभी जानते हैं। आज वे बीजेपी से मुक्त हुए यह हम सभी के लिए अच्छी बात है। दिल्ली में उनके आने से कांग्रेस पार्टी को फायदा होगा।”

Published: 24 Apr 2019, 3:23 PM
लोकप्रिय
next