हरियाणा में 'गोरख धंधा' शब्द के इस्तेमाल पर लगी रोक, सीएम खट्टर ने एक वर्ग को आहत करने वाला बताया

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि गुरु गोरखनाथ संत थे और किसी भी राजभाषा, भाषण या किसी भी संदर्भ में इस शब्द का इस्तेमाल उनके अनुयायियों की भावनाओं को आहत करता है, इसलिए किसी भी संदर्भ में इसके उपयोग पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

हरियाणा में बीजेपी की मनोहर लाल खट्टर सरकार ने बुधवार को 'गोरख धंधा' शब्द के इस्तेमाल पर रोक लगाने का आदेश जारी किया है, जो आमतौर पर अनैतिक कार्यों के बारे में बताने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। खट्टर सरकार ने इसे संत गोरखनाथ के अनुयायियों की भावना के खिलाफ बताया है।

एक आधिकारिक बयान के अनुसार, मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बुधवार को गोरखनाथ समुदाय के एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के बाद इस संबंध में निर्णय लिया, जिन्होंने उनसे इस शब्द के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाने का आग्रह किया, क्योंकि यह संत गोरखनाथ के अनुयायियों की भावनाओं को 'आहत' करता है।


मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि गुरु गोरखनाथ संत थे और किसी भी राजभाषा, भाषण या किसी भी संदर्भ में इस शब्द का इस्तेमाल उनके अनुयायियों की भावनाओं को आहत करता है, इसलिए किसी भी संदर्भ में इसके उपयोग पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia