मुन्ना बजरंगी हत्याकांड: सरकार की नाक के नीचे हुई हत्या को बीजेपी विधायक ने बताया ईश्वरीय देन

माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या के बहाने बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने एक बार फिर अपनी ही सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि मुन्ना बजरंगी ब्यूरोक्रेसी के भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया। उन्होंने दावे के साथ कहा कि बिना पैसे के दम पर असलहा जेल के अंदर जा ही नहीं सकता।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

यूपी के बैरिया विधानसभा से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने बागपत जेल में हुई माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी का हत्या को इश्वरीय देन बताया है। अपनी ही सरकार की नाक के नीचे हुए इस हत्याकांड पर खुशी जाहिर करते हुए सुरेंद्र सिंह ने कहा कि कानून ने न्याय करने में देर की, तो ईश्वरीय शक्ति ने मुन्ना बजरंगी को मारने के लिए किसी शख्स को प्रेरित कर दिया। उन्होंने कहा कि सृष्टि का संचालन करने वाला अपने हिसाब से सृष्टि चलाता है और वह जिसको जिस तरीके से दंड दिलवाना चाहता है, वह हर हाल में दिलवाता है।

मुन्ना बजरंगी की हत्या के बहाने एक बार फिर अपनी ही पार्टी की सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि इस घटना से राज्य की नौकरशाही के भीतर का भ्रष्टाचार एक बार फिर सामने आ गया है। उन्होंने दावे के साथ कहा कि पैसे के दम पर जेल के अंदर क्या नहीं हो सकता है। बागपत जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या करने के लिए पैसा देकर जेल में हथियार लाया गया होगा। उन्होंने सवाल उठाया कि अगर जेल के कर्मचारी बिके नहीं थे तो हथियार सुनील राठी तक कैसे पहुंचा।

दिनदहाड़े अपनी सरकार की चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था को धत्ता बताते हुए बागपत जेल में हुई वारदात का बचाव करने की कोशिश करते हुए उन्होंने कहा कि पूर्व की सरकारों में इस तरह की कई वारदातें हो चुकी हैं। उन्होंने कहा, एसपी-बीएसपी की सरकार में तो जेलर और अधिकारियों को गोलियों से भून दिया जाता था, लेकिन इस सरकार में तो एक अपराधी ने एक अपराधी को मारा है।

9 जुलाई को माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उसी जेल में बंद सुनील राठी पर मुन्ना बजरंगी की हत्या का आरोप लगा है।

बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह इससे पहले भी अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रह चुके हैं। इससे पहले सुरेंद्र सिंह ने देश में रेप की बढ़ती घटनाओं पर विवादित बयान देते हुए कहा था कि “मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि भगवान राम भी आ जाएंगे तो इन घटनाओं पर काबू पाना संभव नहीं है।”

इससे पहले इसी तरह के एक औऱ विवादित बयान में सुरेंद्र सिंह ने कहा था कि ताजमहल का नाम बदलकर ‘राम महल’ या ‘कृष्ण महल’ कर देना चाहिए। इसके अलावा वह उन्नाव गैंगरेप मामले में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के समर्थन में भी बयान दे चुके हैं। उन्होंने कहा था कि कोई भी व्यक्ति 3 बच्चों की मां से रेप नहीं कर सकता। उनके इस बयान पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने उन्हें नोटिस भी जारी किया था। यही नहीं, सुरेंद्र सिंह ने इसी साल अप्रैल महीने में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को शूर्पणखा बताया था। उन्होंने कहा था कि बंगाल की सड़कों पर लोगों को मारा जा रहा है और वह मुख्यमंत्री होकर भी कुछ नहीं कर रही हैं। बंगाल में हिंदू सुरक्षित नहीं हैं, अगर ऐसा ही चलता रहा तो वहां भी जम्मू-कश्मीर जैसे हालात हो जाएंगे।

लोकप्रिय
next