संसद में सुरक्षा चूक के दौरान भाग गए थे BJP सांसद, राहुल गांधी ने बताई पूरी कहानी, कहा- हवा निकल गई थी उनकी

जंतर-मंतर पर प्रदर्शन के दौरान राहुल गांधी ने 13 दिसंबर को संसद की सुरक्षा में चूक पर सवाल उठाते हुए कहा कि वे युवक अंदर कैसे आए, सुरक्षा में चूक हुई, वे सिलेंडर (धुआं कनस्तर) कैसे लाए। यदि वे ये ला सकते हैं तो कुछ भी ला सकते थे।

संसद में सुरक्षा चूक के दौरान भाग गए थे BJP सांसद, राहुल गांधी ने बताई पूरी कहानी
संसद में सुरक्षा चूक के दौरान भाग गए थे BJP सांसद, राहुल गांधी ने बताई पूरी कहानी
user

नवजीवन डेस्क

संसद से विपक्षी सांसदों के निलंबन के खिलाफ जंतर-मंतर पर शुक्रवार को 'लोकतंत्र बचाओ' प्रदर्शन में भाग लेने के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने 13 दिसंबर को लोकसभा में दो लोगों द्वारा धुआं छिड़कने की घटना को देश में बढ़ती बेरोजगारी से जोड़ा और इस मुद्दे पर सरकार की आलोचना की। उन्होंने बताया कि जब वे दोनों आरोपी लोकसभा में दर्शक दीर्घा से कूदे तो बीजेपी के सांसद भाग गए।

जंतर-मंतर पर राहुल गांधी ने संसद सुरक्षा चूक के बारे में कहा, "दो युवक आए। उन्होंने दर्शक दीर्घा से छलांग लगाई और धुआं छिड़का। सभी बीजेपी सांसद भाग गए। जो खुद को देशभक्त कहते हैं, हवा निकल गई उनकी। आप इसे टीवी पर नहीं देख सकते, लेकिन हमने देखा।" 13 दिसंबर को संसद सुरक्षा चूक पर सवाल उठाते हुए राहुल गांधी ने कहा, "वे अंदर कैसे आए, सुरक्षा में चूक हुई, वे सिलेंडर (धुआं कनस्तर) कैसे लाए। यदि वे ये ला सकते हैं तो कुछ भी ला सकते थे।"

राहुल गांधी ने कहा कि उन्होंने ऐसा क्यों किया, ये जानना जरूरी है। देश में बेरोजगारी है। युवाओं को नौकरियां नहीं मिल रही हैं। जो लोग सर्वे करते हैं, मैंने उनसे कहा कि आप छोटे-छोटे शहरों में जाकर एक छोटा सा सर्वे करें और जिन युवाओं ने सेलफोन ले रखा है, पता लगाएं कि वो इंस्टाग्राम, ट्विटर और फेसबुक पर कितना समय बिताते हैं। और मैंने इसे करवाया। मुझे आश्चर्य हुआ, वे (युवा) हर दिन 7.5 घंटे सोशल मीडिया पर बिताते हैं।"

कांग्रेस नेता ने आगे कहा, ''आखिर क्यों, क्योंकि मोदीजी ने उन्हें रोजगार नहीं दिया, उनकी नौकरियां छीन लीं और उन्हें फोन चेक करने का काम दे दिया।'' राहुल गांधी ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि युवाओं ने सुरक्षा उल्लंघन किया, यह आपकी (सरकार) गलती है। यही कारण था कि वे सदन में कूद पड़े।


उन्होंने आगे कहा कि ये बात मीडिया में नहीं आई कि बेरोजगारी है। मीडिया का कहना है कि संसद के बाहर सांसद बैठे थे और राहुल गांधी ने वीडियो बनाया। उन्होंने यह नहीं कहा कि 150 सांसदों को क्यों बाहर खड़ा किया गया है, यह सवाल नहीं पूछा गया। गृह मंत्री अमित शाह से पूछा गया कि वे सदन में कैसे कूद पड़े तो उन्होंने सांसदों को निलंबित कर दिया। मीडिया मुद्दों को भटकाता है।" उन्होंने यह भी कहा कि सांसद देश के लोगों की आवाज़ हैं और आपने देश के 60 प्रतिशत लोगों का मुंह बंद कर दिया है और आप सोचते हैं कि आप लोगों को डरा सकते हैं।

उन्होंने अग्निवीर मुद्दे पर भी बात की और कहा, "आप अग्निवीर योजना लाए, आपने देशभक्ति की भावना छीन ली। अब युवा खड़े हैं और कहते हैं कि हम अग्निवीर के खिलाफ हैं। अगर आप सोचते हैं कि आप युवाओं और मीडिया को धमकी दे सकते हैं तो आप भारत को नहीं समझ पाए हैं। हम सभी विपक्षी नेता यहां खड़े हैं और यह लड़ाई प्यार और नफरत के बीच है। जितना अधिक आप नफरत फैलाएंगे, उतना ही अधिक प्यार इंडिया ब्लॉक के नेता फैलाएंगे।"

शीतकालीन सत्र के दौरान 146 सांसदों के निलंबन के खिलाफ विपक्षी गुट ने शुक्रवार को देश भर में एकजुट होकर विरोध जताया। राजधानी दिल्ली में जंतर-मंतर पर हुए विरोध प्रदर्शन में मल्लिकार्जुन खड़गे, राहुल गांधी, के सी वेणुगोपाल समेत कांग्रेस के कई नेताओं के साथ अन्य विपक्षी दलों के भी कई नेता और निलंबित सांसद शामिल हुए।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;