BJP सांसद वरुण गांधी ने फिर किसानों को लेकर अपनी ही सरकार को घेरा, कहा- कृषि नीति पर पुनर्चिंतन करने की जरूरत

वरुण गांधी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के किसान समोध सिंह पिछले 15 दिनों से अपनी धान की फसल को बेचने के लिए मंडियों में मारे-मारे फिर रहे थे, जब धान बिका नहीं तो निराश होकर इसमें स्वयं आग लगा दी। इस व्यवस्था ने किसानों को कहां लाकर खड़ा कर दिया है?

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कई मौकों पर पार्टी लाइन से अलग राय रखने वाले बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने एक बार फिर किसानों के मुद्दों को लेकर अपनी सरकार पर सवाल उठाया है। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि उत्तर प्रदेश के किसान समोध सिंह पिछले 15 दिनों से अपनी धान की फसल को बेचने के लिए मंडियों में मारे-मारे फिर रहे थे, जब धान बिका नहीं तो निराश होकर इसमें स्वयं आग लगा दी। इस व्यवस्था ने किसानों को कहां लाकर खड़ा कर दिया है? कृषि नीति पर पुनर्चिंतन आज की सबसे बड़ी ज़रूरत है।

इससे पहले गुरुवार को बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने सरकार के खिलाफ बोला था। उन्होंने पीलीभीत में भारी बारिश के कारण आई जबरदस्त बाढ़ को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार पर हमला करते हुए कहा था कि अगर आम आदमी को उसके हाल पर ही छोड़ दिया जाएगा तो फिर सरकार का क्या मतलब है।


क्या है मामला

लखीमपुर खीरी में किसान समोध सिंह ने अपने धान के ढेर पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी। समोध सिंह का आरोप था कि वे सरकारी मंडी पर पिछले 14 दिनों से धान बेचने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन यहां कोई धान खरीदने के लिए तैयार नहीं है। इससे निराश होकर उन्होंने ये कदम उठाया।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia