पश्चिम बंगाल में BJP को बड़ा झटका, मुकुल रॉय की TMC में होगी घर वापसी! खुद ममता बनर्जी करेंगी स्वागत

पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में टीएमसी ने मुकुल रॉय को 6 साल के लिए बाहर कर दिया था। उन्होंने टीएमसी छोड़ी तो बीजेपी का दामन थाम लिया था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बीजेपी अभी बंगाल चुनाव की हार को पचा भी नहीं पाई थी कि उसे एक और झटका लगने वाला है। खबरों की माने तो पश्चिम बंगाल में चुनाव हारने के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को बड़े नेता मुकुल रॉय के रूप में झटका लगने वाला है। न्यूज एजेंसी एएनआई ने अपने सूत्रों के हवाले से बताया है कि मुकुल रॉय टीएमसी में शामिल हो सकते हैं। बताया जा रहा है कि खुद सीएम ममता बनर्जी स्वागत करेंगी।

खबरों की मानें तो मुकुल रॉय आज शाम मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से पार्टी मुख्यालय में मिल सकते हैं। इस बैठक में अभिषेक बनर्जी भी मौजूद रह सकते हैं। खबरों की मानें तो पिछले एक हफ्ते में मुकुल रॉय ने ममता बनर्जी से फोन पर 4 बार बात की है। चुनाव से पहले ही मुकुल, टीएमसी में आना चाहते थे। दरअसल, मुकुल को पहले दिलीप घोष से दिक्कत थी। ज्वाइन करने के बाद उन्हें पार्टी ऑफिस में जगह नहीं मिली। कैलाश विजयवर्गीय, मुकुल के गुरु थे। बीजेपी ने कैलाश को बंगाल से दूर कर दिया है।

गौरतलब है कि पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में टीएमसी ने मुकुल रॉय को 6 साल के लिए बाहर कर दिया था। TMC में मुकुल रॉय का कद कभी ममता बनर्जी के बाद दूसरे नंबर का हुआ करता था। उन्होंने टीएमसी छोड़ी तो बीजेपी का दामन थाम लिया, वे 1998 से ही बंगाल की राजनीति में हैं। मुकुल रॉय का नाम नारदा स्टिंग केस में भी आया था।

मुकुल रॉय अपने करियर की शुरुआत में यूथ कांग्रेस में हुआ करते थे, उस दौर में ममता बनर्जी भी यूथ कांग्रेस में ही थीं। तभी से मुकुल और ममता के बीच राजनीतिक करीबियां बढ़ी थीं। अपने पिता के पीछे पीछे ही उनके बेटे सुभ्रांशु रॉय ने भी भाजपा का दामन थाम लिया था। बीजेपी ने सुभ्रांशु को टिकट भी दिया था, लेकिन वह चुनाव हार गए।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia