BJP को सत्ता में बने रहने के लिए काशी-मथुरा की जरूरत, हिंदू वोटों के ध्रुवीकरण से बंपर वोट की उम्मीद

एक बीजेपी नेता ने कहा कि हमने अब तक काशी-मथुरा पर एक शब्द नहीं बोला। हमारे किसी भी जिम्मेदार नेता ने अब तक कोई बयान नहीं दिया। लेकिन मुस्लिम नेताओं को देखें, वे पहले से ही तीखी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। यह स्वाभाविक रूप से हिंदुओं को मुद्दे पर मजबूत करेगा।

फाइल फोटोः सोशल मीडिया
फाइल फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

जब आपके पास अधिक होता है तो आप और भी अधिक चाहते हैं। ठीक यही भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के साथ हो रहा है। हाल के विधानसभा चुनावों में बीजेपी ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में सत्ता बरकरार रखी, लेकिन पार्टी स्पष्ट रूप से संतुष्ट नहीं है। इस साल के अंत में गुजरात और हिमाचल प्रदेश में चुनावों के साथ 2023 में छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, मिजोरम और राजस्थान में विधानसभा चुनाव और फिर 2024 में लोकसभा चुनावों ने पार्टी को मतदाताओं के बीच अपनी स्थिति मजबूत करने के लिए हर संभव प्रयास करने के लिए मजबूर कर दिया है।

अयोध्या में राम मंदिर 2023 के अंत तक तैयार होने की संभावना है, लेकिन बीजेपी के लिए यह स्पष्ट रूप से पर्याप्त नहीं है। एक अनुभवी बीजेपी नेता ने कहा कि हमारा नारा था 'अयोध्या की तैयारी है, काशी मथुरा बाकी है', और हम इसी पर चल रहे हैं। अयोध्या तैयार होगी और हम काशी और मथुरा को आक्रमणकारियों से मुक्त करने के अपने वादे को निभाएंगे। देवताओं की हमारी त्रिमूर्ति- राम, शिव और कृष्णा के लिए समर्पित भव्य मंदिर होंगे।


पार्टी के रणनीतिकारों को लगता है कि केवल शासन ही उन्हें सत्ता में वापस नहीं ला सकता है, यह हिंदू कार्ड है जो उन्हें चुनावों में भारी बहुमत देगा। बीजेपी इस तथ्य से अवगत है कि काशी और मथुरा पर मुस्लिम समुदाय की अपेक्षित प्रतिक्रियाओं से पार्टी के पक्ष में हिंदू वोटों को मजबूत करने में मदद मिलेगी। एक नेता ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि हमने अभी तक काशी या मथुरा पर एक शब्द नहीं बोला है, और हमारे किसी भी जिम्मेदार नेता ने अब तक कोई बयान नहीं दिया है। लेकिन मुस्लिम नेताओं को देखें, वे पहले से ही तीखी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। यह स्वाभाविक रूप से हिंदुओं को इस मुद्दे पर मजबूत करेगा।

बीजेपी नेता ने आगे कहा कि यूपी विधानसभा चुनाव में पार्टी को सुशासन पर 200 सीटें मिलीं, लेकिन बाकी सीटें 'बुलडोजर' अभियान के कारण आईं, जो जाहिर तौर पर मुस्लिम माफिया के खिलाफ लक्षित थी। उन्होंने कहा कि बुलडोजर फैक्टर ने हिंदुओं को अपने पक्ष में कर लिया और हम आधे रास्ते से काफी आगे निकल गए हैं। इसके अलावा, उन्होंने कहा कि काशी और मथुरा में जाति बाधाओं को तोड़ने और हिंदू कार्ड को मजबूत करने की ताकत है। अयोध्या 2014 और 2019 में एक तुरुप का पत्ता था और अब 2024 में , काशी और मथुरा हमें सत्ता में वापस लाएगा।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia