सवर्ण विजय सिन्हा को बीजेपी ने बनाया बिहार विधानसभा का स्पीकर, पहले नंद किशोर यादव के नाम पर थी सहमति

बिहार में सरकारी तंत्र से ओबीसी को बाहर करने की कवायद जारी है। इसी कड़ी में बीजेपी ने पार्टी विधायक विजय सिन्हा को स्पीकर पद के लिए नामित किया है। पहले नंद किशोर यादव को स्पीकर बनाए जाने की चर्चा थी।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

भारतीय जनता पार्टी ने बिहार विधानसभा के अध्यक्ष पद के लिए पार्टी विधायक विजय सिन्हा को उम्मीदवार बनाया है। देर रात हुई बैठक में बीजेपी ने विजय सिन्हा के नाम पर मुहर लगा दी। विजय सिन्हा ने आज अपना नामांकन दाखिल कर दिया। खबरों के मुताबिक लखीसराय से विधायक विजय सिन्हा को उम्मीदवार बनाने का फैसला बीजेपी की शीर्ष कमेटी ने सोमवार देर रात एक बैठक के बाद किया है। इस फैसले पर विजय सिन्हा ने कहा कि "हम पार्टी और एनडीए के निर्देशों को मुताबिक काम करेंगे।"

कहा जा रहा है कि बीजेपी ने इसके जरिए सामाजिक समीकरण दुरुस्त करने की कोशिश की है। विजय सिन्हा सवर्ण हैं। राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि इस पद के लिए इससे पहले पूर्व सड़क निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव के नाम पर सहमति बन चुकी थी। इसके साथ ही एक और पूर्व मंत्री नीतीश मिश्र का नाम भी चर्चा मे था। लेकिन आखिरी समय में बीजेपी विजय सिन्हा का नाम पर हामी भरी।

विजय सिन्हा बीजेपी के पुराने नेता है और उहें पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी का काफी करीबी माना जाता है। विजय सिन्हा तीन बार लखीसराय से विधायक रह चुके हैं। विजय सिन्हा पिछली सरकार में श्रम संसाधन मंत्री भी रहे। मंत्री बनने से पहले विजय सिन्हा बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता रहे हैं।


कई राजनीतिक विशलेषकों का मानना है कि विजय सिन्हा को विधानसभा अध्यक्ष पद का उम्मीदवार बना कर बीजेपी सामाजिक समीकरण को दुरुस्त करना चाहती है। भारतीय जनता पार्टी ने राज्य में उपमुख्यमंत्री के दोनों पद पिछड़ी और अति पिछड़ी जाति से आने वाले नेताओं को दिए हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia