पैगंबर पर विवादित टिप्पणी मामले में बैकफुट पर BJP, नूपूर शर्मा को किया सस्पेंड, नवीन जिंदल पार्टी से बाहर

एक टीवी डिबेट में नूपूर शर्मा द्वारा पैगंबर मुहम्मद पर टिप्पणी के बाद 3 जून को कानपुर में हिंसक झड़प हो गई। वहीं सोशल मीडिया पर लगातार इस मुद्दे पर माहौल गर्म है। इस बीच महाराष्ट्र में बीजेपी प्रवक्ता नुपूर शर्मा के खिलाफ कई प्राथमिकी दर्ज की गई हैं।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

बीजेपी ने इस्लाम के पैगंबर पर की गई अमर्यादित टिप्पणी को लेकर देश भर के मुसलमानों में फैल रही नाराजगी के बीच पार्टी प्रवक्ता नुपुर शर्मा को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। वहीं पार्टी ने एक अन्य नेता नवीन जिंदल को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। नुपूर पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं और जिंदल दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता और मीडिया विभाग के प्रमुख हैं।

नुपूर शर्मा को लिखे पत्र में बीजेपी केंद्रीय अनुशासन समिति के सदस्य सचिव ओम पाठक ने कहा, "आपने विभिन्न मामलों पर पार्टी की स्थिति के विपरीत विचार व्यक्त किए हैं, जो भारतीय जनता पार्टी के संविधान के नियम 10 (ए) का स्पष्ट उल्लंघन है।" पाठक ने कहा, "मुझे आपको यह बताने का निर्देश दिया गया है कि आगे की जांच लंबित रहने तक आपको तत्काल प्रभाव से पार्टी से और आपकी जिम्मेदारियों/कार्यो से निलंबित किया जाता है।"


जिंदल को लिखे एक अन्य पत्र में दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा, "सांप्रदायिक सद्भाव को भड़काने के लिए आपके द्वारा सोशल मीडिया पर व्यक्त किया गया विचार पार्टी के मूल विचार के खिलाफ है। आपने पार्टी की विचारधारा और नीति के खिलाफ काम किया। इसलिए, आपकी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता तत्काल प्रभाव से रद्द की जाती है और आपको पार्टी से निलंबित भी किया जाता है।"

आदेश गुप्ता ने कहा कि पार्टी में अनुशासनहीनता के लिए कोई जगह नहीं है और किसी को भी पार्टी लाइन को लांघने की इजाजत नहीं है। यह हमारे संज्ञान में आया है कि जिंदल ने पार्टी लाइन को पार कर अपने सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए नफरत और सांप्रदायिक वैमनस्य फैलाने की कोशिश की है। हमने उनकी प्राथमिक सदस्यता रद्द कर दी है।

इससे पहले दिन में एक प्रेस बयान में बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने कहा, "भारत के इतिहास के हजारों वर्षो के दौरान, हर धर्म फला-फूला है। भारतीय जनता पार्टी सभी धर्मो का सम्मान करती है। भाजपा किसी भी धर्म के किसी भी धार्मिक व्यक्ति के अपमान की कड़ी निंदा करती है।" सिंह ने कहा कि भारत का संविधान प्रत्येक नागरिक को अपनी पसंद के किसी भी धर्म का पालन करने और हर धर्म का सम्मान करने का अधिकार देता है। जैसा कि भारत अपनी स्वतंत्रता के 75वें वर्ष का जश्न मना रहा है, हम भारत को एक महान देश बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं जहां सभी समान हैं और हर कोई सम्मान के साथ रहता है। जहां सभी भारत की एकता और अखंडता के लिए प्रतिबद्ध हैं, जहां सभी विकास का आनंद लेते हैं।

बता दें कि एक टीवी डिबेट के दौरान पैगंबर मुहम्मद पर नूपूर शर्मा की टिप्पणी के बाद 3 जून को कानपुर में हिंसक झड़पें हुईं। वहीं सोशल मीडिया पर लगातार इस मुद्दे पर माहौल गर्म है। इस बीच महाराष्ट्र में बीजेपी की राष्ट्रीय प्रवक्ता नुपूर शर्मा के खिलाफ कई प्राथमिकी दर्ज की गई हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia