संसद में बेरोजगारी के मुद्दे पर घिरी मोदी सरकार, खड़गे बोले- युवा हैं परेशान, करोड़ों नौकरियों के वादे का क्या हुआ?

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि 2014 में भाजपा ने हर साल दो करोड़ नौकरियों का वादा किया था। अब तक 15 करोड़ नौकरियां होनी चाहिए थी। बट आपने कितनी नौकरियां दी? इस साल के बजट में अगले पांच सालों के दौरान सिर्फ 60 लाख नौकरियां देने का वादा किया गया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

संसद के बजट सत्र का आज तीसरा दिन है। बीते सत्रों की तरह इस बार बजट सत्र भी हंगामेदार रहने के आसार हैं। विपक्षी दल सरकार को पेगासस, महंगाई, बेरोजगारी, चीन सीमा विवाद जैसे कई मुद्दों पर घेरने की तैयारी में हैं। राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा चल रही है। इस दौरान राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने मोदी सरकार को रोजगार के मामले में जमकर घेरा है।

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि देश में व्यापक बेरोजगारी है। युवा परेशान हैं क्योंकि बड़े कारखाने बंद हो रहे हैं, निवेश नहीं आ रहा है और सरकारी नौकरियों की संख्या घट रही है। 2014 में भाजपा ने हर साल दो करोड़ नौकरियों का वादा किया था। अब तक 15 करोड़ नौकरियां होनी चाहिए थी। बट आपने कितनी नौकरियां दी? इस साल के बजट में अगले पांच सालों के दौरान सिर्फ 60 लाख नौकरियां देने का वादा किया गया।

मल्लिकार्जुन खड़गे यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि केंद्र सरकार में नौ लाख पद खाली हैं। रेलवे में लगभग 15% पद, रक्षा में 40% और गृह मामलों में 12% पद रिक्त हैं। आज शहरी क्षेत्रों में बेरोजगारी दर 9% और ग्रामीण क्षेत्रों में 7.2% है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia