BJP ने देश को सांप्रदायिक ध्रुवीकरण के अंधेरे युग में धकेला, भारत के सदियों पुरानी परंपरा का भी कर रही अपमान: कांग्रेस

देश में धार्मिक ध्रुवीकरण और नफरत भरे माहौल को लेकर कांग्रेस ने केंद्र की सत्ताधारी पार्टी बीजेपी पर एक बार फिर से जोरदार हमला बोला है। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि बीजेपी भारत के सदियों पुरानी परंपरा ‘वसुधैव कुटुंबकम’ का अपमान कर रही है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

रवि प्रकाश

देश में धार्मिक ध्रुवीकरण और नफरत भरे माहौल को लेकर कांग्रेस ने केंद्र की सत्ताधारी पार्टी बीजेपी पर एक बार फिर से जोरदार हमला बोला है। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि बीजेपी भारत के सदियों पुरानी परंपरा ‘वसुधैव कुटुंबकम’ का अपमान कर रही है। कांग्रेस के महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सोमवार को राजधानी दिल्ली में एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा, 'बीजेपी एक तरफ़ तो धार्मिक ध्रुवीकरण कर और नफरत फैला कर भारत की सदियों पुरानी ‘वसुधैव कुटुंबकम’ की परंपरा का अपमान करती है तो दूसरी और सब धर्मों के सम्मान का ढोंग और पाखंड करती है। यह दोगली भाषा अविश्वसनीय है। इसे ही तो कहते हैं - “नौ सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली”।'

रणदीप सुरजेवाला ने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी सरकार के लिए आज असली मुद्दों का कोई मायना नहीं रह गया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी वोट बटोरने के लिए नित्य नए शब्दकोश गढ़ रही है। उन्होंने कहा, 'भाजपाई नेतृत्व ने वोट बटोरने के लिए एक नया शब्दकोश बना लिया है। ये हैं- ‘श्मशान-कब्रिस्तान’, ‘80 बनाम 20’, ‘बुलडोज़र’, ‘गर्मी निकालना’। भाजपाई राजनीति में ‘विकास’, ‘रोजगार’, ‘प्रगति’, ‘शिक्षा’, ‘कृषि’, ‘सिंचाई’, ‘बिजली’, ‘बुनियादी ढांचा’ जैसे शब्दों के मायने नहीं रह गए।'


कांग्रेस महासचिव ने बीजेपी से कई सवाल भी किए। उन्होंने पूछा कि क्या बीजेपी अपने तौर-तरीकों में सुधार लाने के प्रति गंभीर है? उन्होंने आगे सवाल किया कि क्या अब भारत की आत्मा, विचारधारा और मानवता की समावेशी परंपरा पर “नफरत का बुलडोज़र” चलना बंद हो जाएगा?

रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि 'अपने राजनीतिक स्वार्थों की पूर्ति के लिये सत्ताधारी भाजपा को देश की छवि पर आघात करने का अधिकार किसने दिया?' बीजेपी प्रवक्ता द्वारा नफरत भरे बयान देने को लेकर भी कांग्रेस नेता ने बीजेपी को कटघरे में खड़ा किया है। उन्होंने पूछा कि, 'क्या भाजपा नेतृत्व संकीर्ण राजनैतिक स्वार्थों को पूरा करने के लिए देश को सांप्रदायिक ध्रुवीकरण के अंधेरे युग में नहीं धकेल रहा है?'

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia