हिमाचल में AAP से डर गई BJP, चुनाव से पहले बदलेगी मुख्यमंत्री, अनुराग ठाकुर को मिल सकता है ताज- मनीष सिसोदिया

मनीष सिसोदिया ने कहा कि जयराम ठाकुर एक नाकाम मुख्यमंत्री साबित हुए हैं। उन्होंने कुछ नहीं किया। न स्कूल बनवाए, न अस्पतालों में कुछ किया। न रोजगार पर कुछ किया। साढ़े 4 साल की नाकामी को छुपाने के लिए अब बीजेपी जयराम ठाकुर को हटाकर नया सीएम लाना चाहती है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने गुरुवार को हिमाचल प्रदेश को लेकर एक बड़ा दावा किया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी राज्य के मौजूदा मुख्यमंत्री को हटाकर अब नए चहरे को मुख्यमंत्री बनाना चाहती है और अनुराग ठाकुर का नाम सामने आ रहा है। मनीष सिसोदिया ने यह दावा तब किया है जब एक दिन पहले ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवत मान ने हिमाचल के मंडी में एक रोड शो किया था।

गुरुवार को मनीष सिसोदिया ने मीडिया के समक्ष आकर कहा कि, "अरविंद केजरीवाल का केजरीवाल मॉडल ऑफ गवर्नेस देश भर में लोगों के लिए एक उम्मीद बनता जा रहा है। जैसे-जैसे यह उम्मीद बन रही है, उसी तरह भारतीय जनता पार्टी के मन में डर भी बन रहा है। हमें यह पता लगा है कि भारतीय जनता पार्टी हिमाचल प्रदेश में अपना मुख्यमंत्री बदलने जा रही है।"


सिसोदिया ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर एक नाकाम मुख्यमंत्री के रूप में साबित हुए हैं। उन्होंने जनता के लिए कुछ नहीं किया और ना स्कूल बनवाएं, अस्पतालों में कुछ नहीं किया और रोजगार का भी बुरा हाल है। साढ़े 4 साल की नाकामी को छुपाने के लिए अब बीजेपी जयराम ठाकुर को हटाकर अनुराग ठाकुर को मुख्यमंत्री बनाना चाहती है।"

उन्होंने आगे कहा कि मैं बीजेपी से कहना चाहता हूं कि चाहे आप चेहरे बदल लो, आपने हिमाचल की जनता को धोखा दिया, उनकी उम्मीदों को तोड़ा है अब आपको जनता याद नहीं करने वाली है। अब जनता के बीच केजरीवाल जी पहुंच चुके हैं। आगामी चुनाव में आम आदमी पार्टी की सरकार बनेगी। अब मुख्यमंत्री या मंत्री बदलने से कुछ नहीं होने वाला। आपको जनता से माफी मांगनी चाहिए कि आपने उनके साढ़े 4 साल खराब कर दिया।"


दरअसल हिमाचल प्रदेश में फिलहाल बीजेपी और कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला है। राज्य में जयराम ठाकुर की अगुवाई में बीजेपी की सरकार है और 68 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी के 43, कांग्रेस के 22, सीपीआईएम के 1 और 2 सदस्य निर्दलीय हैं। वहीं बीजेपी हिमाचल प्रदेश में हर हाल में जीत दर्ज करना चाहेगी। 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी के खाते में 68 में से 44 सीटें आई थीं। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा इसी राज्य से आते हैं।

दूसरी ओर पंजाब में प्रचंड जीत हासिल करने के बाद ही आम आदमी पार्टी ने ऐलान कर दिया था कि वे हिमाचल प्रदेश और गुजरात में भी अपना दावा पेश करेंगे। पार्टी कह चुकी है कि दोनों राज्यों की सभी सीटों पर उनके उम्मीदवार अपनी दावेदारी ठोकेंगे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia