महाराष्ट्र: फिर 'देवदूत' बनकर आए भारतीय तटरक्षक बल! चट्टानों में फंसी नौका के क्रू-मेंबर को 30 घंटे बाद बचाया गया

शुक्रवार सुबह बचाव अभियान फिर से शुरू करते हुए, एक आईसीजी हेलीकॉप्टर ने आखिरकार चालक दल के सदस्य - रफीक शेख - को बचा लिया और उसे आगे की जांच के लिए पालघर पुलिस को सौंप दिया

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

भारतीय तटरक्षक बल ने शुक्रवार को एक नौका (मिनी-बार्ज) के चालक दल के एक सदस्य (क्रू-मेंबर) को बचाया, जो पालघर तट पर चट्टानों से टकरा गई थी। शुक्रवार सुबह बचाव अभियान फिर से शुरू करते हुए, एक आईसीजी हेलीकॉप्टर ने आखिरकार चालक दल के सदस्य - रफीक शेख - को बचा लिया और उसे आगे की जांच के लिए पालघर पुलिस को सौंप दिया।

प्रारंभिक जानकारी के अनुसार, गुरुवार की सुबह जब मास्टर घोड़बंदर के पास भोजन करने के लिए तट पर पहुंचे तो मिनी बार्ज तट से दूर चला गया। ज्वार और धाराएं नौका को दूर ले गई और यह अरब सागर में अमलापड़ा लाइटहाउस के पास चट्टानों में फंस गया, जो कि पालघर तट से लगभग 4 किलोमीटर दूर है, जिससे गुरुवार को सुरक्षा की दृष्टि से डर भी पैदा हो गया था।

मामले में आगे की जांच चल रही है, जिसमें यह भी शामिल है कि क्या नौका मास्टर ने पुलिस शिकायत दर्ज कराई थी या नहीं, क्योंकि संदिग्ध नौका के दिखने के बाद पुलिस एवं प्रशासन के साथ ही एजेंसियां भी अलर्ट हो गईं थीं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia