झारखंड में फंदे से लटका मिला निलंबित थानेदार का शव, विरोध में ग्रामीणों ने किया सड़क जाम

नवा बाजार थाने के निलंबित थाना प्रभारी लालजी यादव को तीन दिन पहले पलामू के एसपी चंदन कुमार सिन्हा ने सस्पेंड किया था। उनकी जिला परिवहन पदाधिकारी अनवर हुसैन से किसी बात पर बहस हुई थी। इसी घटना को लेकर अनुशासनिक कार्रवाई करते हुए उन्हें सस्पेंड किया गया था।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

झारखंड के पलामू जिले के नवा बाजार के निलंबित थाना प्रभारी लालजी यादव का शव मंगलवार को थाना परिसर में उनके आवास में फांसी के फंदे से लटकता पाया गया। इसे प्रथम दृष्टया आत्महत्या का मामला बताया जा रहा है। घटना की खबर फैलते ही इलाके के लोग बड़ी संख्या में सड़क पर उतर आए और एनएच 98 को जाम कर दिया।

निलंबित थानेदार लालजी यादव सुबह सवेरे उठ जाया करते थे, लेकिन मंगलवार की सुबह जब देर तक वह अपने क्वार्टर से बाहर नहीं आए तो साथी पुलिसकर्मी वहां पहुंचे। उन्हें क्वार्टर में फंदे पर लटकता पाया गया। सूचना मिलने पर पुलिस के कई वरीय अधिकारी नावा बाजार पहुंच गए हैं। मामले में छानबीन की जा रही है। पुलिस अधिकारी का शव पोस्टमार्टम के लिए पलामू भेजा गया है।


इधर इस घटना की जानकारी मिलने के बाद इलाके के लोग बड़ी संख्या में सड़क पर उतर आए और एनएच 98 डालटनगंज-औरंगाबाद मुख्य पथ को थाना के समीप जाम कर दिया। ग्रामीण पलामू के एसपी चंदन कुमार सिन्हा के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। वे पूरे मामले की जांच करने की मांग कर रहे थे। लगभग 2 घंटे के बाद पुलिस अधिकारियों के समझाने-बुझाने पर जाम हटाया जा सका।

लालजी यादव को तीन दिन पहले ही पलामू के एसपी चंदन कुमार सिन्हा ने सस्पेंड कर दिया था। जानकारी के अनुसार नवा बाजार थाना प्रभारी लालजी यादव की जिले के परिवहन पदाधिकारी अनवर हुसैन से किसी बात पर बहस हुई थी। इसी घटना को लेकर अनुशासनिक कार्रवाई करते हुए उन्हें सस्पेंड किया गया था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia