देश छोड़कर भाग गया बच्चों के अपहरण का आरोपी बदनाम बाबा नित्यानंद, सेविकाएं गिरफ्त में: गुजरात पुलिस

बच्चों के अपहरण के मामले में फंसा बदनाम बाबा स्वामी नित्यानंद देश छोड़कर भाग गया है, जबकि उसकी दो सेविकाएं गुजरात पुलिस की हिरासत में हैं। इस बीच सीबीएसई ने गुजरात शिक्षा विभाग को नोटिस जारी कर दिया है कि आखिर एक स्कूल की जमीन नित्यानंद के आश्रम को कैसे दे दी गई।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बच्चों के अपहरण के मामले में गुजरात पुलिस ने गुरुवार को एक बार फिर बदनाम स्वामी नित्यानंद के आश्रम पर दबिश दी। पुलिस ने बुधवार को ही दो बच्चों के अपहरण के आरोप में आश्रम की दो सेविकाओं और एक प्रशासक को हिरासत में लिया था। इस बीच नित्यानंद की गिरफ्तारी के लिए पुलिस कोशिश कर रही है। लेकिन अब खबर आ रही है कि नित्यानंद देश छोड़कर भाग गया है। समाचार एजेंसी पीटीआई ने गुजरात पुलिस के हवाले से यह खबर दी है।

हालांकि इससे पहले नित्यानंद के भारत से बाहर चले जाने और गुजरात पुलिस द्वारा नित्यानंद के प्रत्यर्पण को लेकर विदेश मंत्रालय से संपर्क करने के सवाल पर विदेश मंत्रालय ने कहा था कि, इस बारे में हमारे पास कोई औपचारिक जानकारी नहीं है, न तो गुजरात पुलिस से और न ही गृह मंत्रालय से। इसके अलावा, प्रत्यर्पण अनुरोध के लिए, हमें व्यक्ति के स्थान और राष्ट्रीयता के विवरण की आवश्यकता है। हमारे पास अभी तक उसके बारे में ऐसी कोई जानकारी नहीं है।

इस बीच केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड-सीबीएसई ने स्कूलों के निदेशालय और गुजरात के शिक्षा विभाग से पूछा है कि आखिर एक स्कूल की जमीन नित्यानंद के आश्रम को कैसे दे दी गई। पत्र लिखा में कहा गया है कि, बोर्ड की अनुमति के बिना स्वामी नित्यानंद के आश्रम को डीपीएस मणिनगर, महमदाबाद रोड, हीरापुर, अहमदाबाद की भूमि को लीज पर देने के मामले में तत्काल और त्वरित कार्रवाई की जाए। वहीं इस मामले में सीबीएसई ने स्कूल से संबद्धता प्राप्त करने के लिए स्कूल को गुजरात शिक्षा विभाग द्वारा जारी अनापत्ति प्रमाण पत्र की रिपोर्ट और स्थिति के परिणाम को शीघ्रता से जांचने के लिए कहा है।

दरअसल गुजरात पुलिस ने स्वामी नित्यानंद के खिलाफ बच्चों को अगवा करने के मामले में पुलिस ने केस दर्ज किया है। आरोप है कि अहमदाबाद स्थित आश्रम के संचालन के लिए स्वामी नित्यानंद बच्चों को बंधक बनाकर अपने अनुयायियों से चंदा जुटाने के काम में लगा देता है। वहीं पुलिस ने नित्यानंद आश्रम की दो सेविकाओं साध्वी प्राण प्रियनंदा और प्रियतत्व रिद्धि किरण को गिरफ्तार किया है। दोनों पर चार बच्चों का अपहरण करने, बंधक बनाकर रखने और बाल मजदूरी कराने का आरोप है। पुलिस ने एक फ्लैट से और एक आश्रम से चार बच्चों को छुड़ाया था। पुलिस के मुताबिक आश्रम से छुड़ाए गए नौ और दस साल के बच्चों ने बताया कि उन्हें यातनाएं दी जा रही थीं और बाल श्रमिक के तौर पर उनसे काम करवाया जा रहा था।

इसके अलावा दो बहनों के अभिभावकों ने भी आश्रम प्रशासन पर आरोप लगाया था कि उन्हें अपने बच्चों से मिलने नहीं दिया जारहा था। बच्चियों के पिता जनार्दन शर्मा ने गुजरात हाई कोर्ट में सोमवार को एक याचिका दायर कर दावा किया था कि उनकी बेटियों को अगवा कर दो हफ्ते से ज्यादा समय से बंधक बनाकर रखा गया था। जनार्दन की याचिका पर गुजरात हाईकोर्ट ने बुधवार को गुजरात सरकार, पुलिस महानिदेशक, पुलिस अधिकारियों, बाल कल्याण समिति अध्यक्ष और स्वामी नित्यानंद को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था, जिसके बाद यह कार्यवाही की गई।

लोकप्रिय
next