छत्तीसगढ़: ईवीएम की सुरक्षा से फिर खिलवाड़, स्ट्रांग रूम के बाहर लैपटॉप का इस्तेमाल, कांग्रेस कार्यकर्ता भड़के

छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिला के स्ट्रांग रूम के पास एक बीएसएफ जवान को लैपटॉप उपयोग करते हुए देख कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया। स्ट्रांग रूम के बाहर सुरक्षा में हुई चूक को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

By नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में चुनाव के बाद स्ट्रांग रूम की सुरक्षा को लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं। ताजा मामला छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिले का है। जहां बीएसएफ जवान लैपटॉप के साथ स्ट्रांग रूम के पास मिला। इसकी खबर मिलते ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पूरे स्ट्रांग रूम को घेर लिया और जमकर हंगामा किया। स्ट्रांग रूम के बाहर सुरक्षा में हुई चूक को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

वहीं विवाद बढ़ने के बाद बेमेतरा के डीएम महादेव कावरे मौके पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि बीएसएफ जवान से लैपटॉप को जब्त कर लिया गया है। पूछताछ के बाद बीएसएफ के जवान के ऊपर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने आगे कहा कि इवीएम हैकिंग जैसी कोई बात नहीं है। इवीएम पूरी तरह सुरक्षित हैं।

इस मामले में साजा विधानसभा के कांग्रेस प्रत्याशी रविंद्र चौबे ने बताया कि मंगलवार रात स्ट्रांग रूम के पास बीएसएफ जवान लैपटॉप चला रहा था। जो कि पूरी तरह से गलत है। कोई भी स्ट्रांग रूम के आसपास ऐसा नहीं कर सकता। इस संबंध में कलेक्टर से शिकायत भी की गई लेकिन उन्होंने इसे हल्के से लिया। उन्होंने कहा कि जवान को तुरंत गिरफ्तार करना चाहिए और तत्काल लैपटॉप जब्त करके एक्सपर्ट को दिखाना चाहिए।

विधानसभा चुनाव के बाद से ही प्रदेश कांग्रेस ईवीएम के साथ छेड़खानी की शिकायत को लेकर लगातार चुनाव आयोग पहुंच रहे हैं। मंगलवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल और मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ ने चुनाव आयोग से मुलाकात की। कमलनाथ ने कहा कि राज्यों से ईवीएम को लेकर बहुत शिकायतें आ रही हैं। कई जगह शिकायतें आई हैं कि अधिकारी गडबड़ी कर रहे हैं। हमने चुनाव आयोग को बताया कि कहीं ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी, कहीं बिजली जाने की समस्या, तो कहीं ईवीएम मशीनें होटल में पाए जाने के मामले सामने आए हैं। उन्होंने आगे कहा, “हम ने चुनाव आयोग से मांग की है कि जिस-जिस जगह पर ये घटनाएं हुई हैं उन सभी अधिकारियों को चुनाव ड्यूटी से हटाया जाए और उनके नेतृत्व में काउंटिंग नहीं होनी चाहिए।”

कांग्रेस की शिकायत के बाद चुनाव आयोग ने यह माना था कि भोपाल के जिस स्ट्रांग रूम में मतदान खत्म होने के बाद ईवीएम मशीनें रखी गई थीं, वहां अचानक बिजली जाने की वजह से सीसीटीवी कैमरे करीब 1 घंटे के लिए बंद हुए थे। इसके अलावा सागर में ईवीएम को देर से जमा करने की कांग्रेस की शिकायत भी सच साबित हुई थी। दूसरी ओर छत्तीसगढ़ के महेंद्रगढ़ विधानसभा क्षेत्र के चिरमिरी इलाके में एक सरकारी स्कूल के हेडमास्टर के घर से ईवीएम बरामद हुई थी।

Most Popular