पाकिस्तानी गोलीबारी में BSF अधिकारी और दो जवान शहीद, LOC पर ‘नापाक’ हरकत नाकाम

सेना ने केरण सेक्टर में एलओसी के पास घुसपैठ के एक बड़े प्रयास को विफल कर दिया है। सेना ने बताया कि केरण सेक्टर में शुक्रवार को एलओसी से लगी अग्रिम चौकी के पास कुछ संदिग्ध गतिविधि देखी गई, जिसके बाद पहले से ही अलर्ट जवानों ने संदिग्ध घुसपैठ को नाकाम कर दिया।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

आसिफ एस खान

जम्मू-कश्मीर में एलओसी के करीब कई सेक्टरों में पाकिस्तान की तरफ से बिना किसी उकसावे के की गई फायरिंग में आज एक बीएसएफ अधिकारी और दो जवान शहीद हो गए। इनके अलावा पाक की इस नापाक हरकत में तीन आम नागरिक भी मारे गए हैं। वहीं सेना ने इस गोलीबारी की आड़ में एलओसी के पास केरण सेक्टर में घुसपैठ के बड़े प्रयास को विफल कर दिया है।

अधिकारी की शहादत पर नमन करते हुए बीएसएफ ने कहा, "पाकिस्तान की ओर से संघर्ष विराम उल्लंघन की घटना में, बीएसएफ अधिकारी सब इंस्पेक्टर राकेश डोभाल ने पाकिस्तान को करारा जवाब देते हुए सर्वोच्च बलिदान दिया। बीएसएफ, कश्मीर, सर्वोच्च बलिदान पर आपको सैल्यूट करता है। ब्रेवहार्ट! "

वहीं सेना ने बताया कि उसने केरण सेक्टर में एलओसी के पास घुसपैठ के एक बड़े प्रयास को विफल कर दिया है। सेना ने कहा कि केरण सेक्टर में शुक्रवार को एलओसी से लगी अग्रिम चौकी के पास कुछ संदिग्ध गतिविधि देखी गई, जिसके बाद पहले से ही अलर्ट जवानों ने संदिग्ध घुसपैठ को नाकाम कर दिया।

इस दौरान पाकिस्तान ने एलओसी पर विभिन्न सेक्टरों में संघर्ष विराम का जमकर उल्लंघन किया, जिसमें पाकिस्तान की तरफ से पुंछ जिले में एलओसी पर छोटे हथियारों और मोर्टार का इस्तेमाल करके भारतीय चौकियों को निशाना बनाया गया, जिसमें 5 नागरिक घायल हो गए। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल देवेंद्र आनंद ने कहा कि भारतीय सेना इसका माकूल जवाब दे रही है। बता दें कि

पाकिस्तान इस वर्ष की शुरूआत से ही भारत और पाकिस्तान द्वारा 1999 में किए गए द्विपक्षीय संघर्ष विराम समझौते का उल्लंघन कर रहा है।

(एजेंसी के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia