मायावती ने एसपी से पूरी तरह गठबंधन खत्म करने का किया ऐलान, कहा- अब सभी छोटे-बड़े चुनाव अकेले लड़ेगी बीएसपी

मायावती ने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद समाजवादी पार्टी का व्यवहार बीएसपी को यह सोचने पर मजबूर करता है कि क्या ऐसा करके बीजेपी को आगे हरा पाना संभव होगा? जो संभव नहीं है। ऐसे में अब बीएसपी आगे होने वाले सभी छोटे-बड़े चुनाव अकेले लड़ेगी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

बीएसपी प्रमुख मायावती ने समाजवादी पार्टी से पूरी तरह से गठबंधन तोड़ लिया है। मायावती ने ऐलान किया है कि अब बीएसपी आगामी सभी छोटे-बड़े चुनाव अपने बूते पर लड़ेगी। बीएसपी प्रमुख ने ट्वटी कर कहा, “लोकसभा के बाद समाजवादी पार्टी का व्यवहार बीएसपी को यह सोचने पर मजबूर करता है कि क्या ऐसा करके बीजेपी को आगे हरा पाना संभव होगा? जो संभव नहीं है। ऐसे में पार्टी और मूवमेन्ट के हित में अब बीएसपी आगे होने वाले सभी छोटे-बड़े चुनाव अकेले अपने बूते पर ही लड़ेगी।”

एक अन्य ट्वीट में मायावती ने कहा, “वैसे भी जगजाहिर है कि समाजवादी पार्टी के साथ सभी पुराने गिले-शिकवों को भुलाने के साथ-साथ 2012-17 में समाजवादी पार्टी सरकार के बीएसपी और दलित विरोधी फैसलों, प्रमोशन में आरक्षण विरूद्ध कार्यों एवं बिगड़ी कानून व्यवस्था आदि को दरकिनार करके देश और जनहित में एसपी के साथ गठबंधन धर्म को पूरी तरह से निभाया।“ लखनऊ में रविवार को बीएसपी का राष्ट्रीय अधिवेशन हुआ था। इस बैठक के बाद मायावती ने एसपी से पूरी तरह से गठबंधन खत्म करने का ऐलान किया है।

लोकसभा चुनाव के बाद ही मायावती ने 4 जून को ऐलान किया था कि उनकी पार्टी आगामी उपचुनाव अकेले लड़ेगी। एसपी पर जीत का ठीकरा फोड़ते हुए मयावती ने कहा था, “लोकसभा चुनाव में यादवों ने समाजवादी पार्टी के साथ भीतरघात किया और अपनी ही पार्टी के प्रत्याशियों को वोट नहीं दिया। यादव बिरादरी ने समाजवादी पार्टी को ही वोट नहीं दिया तो बीएसपी को क्या वोट देते।“ बीएसपी प्रमुख ने कहा था कि समाजवादी पार्टी में बड़े सुधार की जरूरत है।

Published: 24 Jun 2019, 12:27 PM
लोकप्रिय