CAA: दिल्ली के शाहीन बाग के बाद पटना में भी प्रदर्शनस्थल पर फायरिंग, 3 राउंड गोली चलाने वाले 3 आरोपी गिरफ्तार

बिहार के फुलवारी शरीफ में सीएए खिलाफ जारी प्रदर्शन स्थल पर शुक्रवार रात को फायरिंग करने वाले आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपियों में, सौरव उर्फ अतुल, कुंदन कुमार और राहुल शामिल हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार के फुलवारी शरीफ में सीएए खिलाफ प्रदर्शन पिछले एक महीने से जारी है। वहीं शुक्रवार की रात प्रदर्शन स्थल पर असामाजिक तत्वों ने हवाई फायरिंग कर दहशत फैलाने की कोशिश की। अब इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपियों में, सौरव उर्फ अतुल, कुंदन कुमार और राहुल शामिल हैं। पुलिस ने ये कार्रवाई सीसीटीवी के आधार पर की है।

प्रदर्शनस्थल पर मौजूद लोगों के मुताबिक, तीन बाइक पर सवार होकर 7 लोग प्रदर्शन स्थल पर पहुंचे थे। तीन राउंड फायरिंग करने के बाद मौके से फरार हो गए। शिकायत मिलने के बाद पुलिस इन्हें तलाश कर रही थी।

CAA: दिल्ली के शाहीन बाग के बाद पटना में भी प्रदर्शनस्थल पर फायरिंग, 3 राउंड गोली चलाने वाले 3 आरोपी गिरफ्तार

बताया जा रहा है कि रात तकरीबन दस बजे के करीब में फुलवारीशरीफ में सीएए के खिलाफ धरने पर बैठे लोगों में अफरातफरी मच गई। जब असामाजिक तत्वों ने तीन राउंड फायरिंग की। इस घटना से इलाके में दहश्त का माहौल पैदा हो गया था और खबर मिलने के बाद पुलिस वहां पहुंची। पुलिस ने शुरुआती जांच में कहा कि 3 मोटर साईकल पर 7 लोग सवार होकर आए थे और फायरिंग करके फरार हो गए थे। मौके पर पुलिस कई अधिकारी भी पहुंचे।

ताजा खबरों के मुताबिक, इस समय पटना के सीनीयर एसपी ओपिंदर शर्मा फुलवारी शरीफ थाना पहुंचे और घटना स्थल का दौरा किया। इस घटना को लेकर अगामी बिहार विधानसभा चुनाव से जोड़कर देख रहे हैं। दरअसल दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी कई नेता सीएए के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों को लेकर विवादित बयान दिए थे। इस दौरान दिल्ली के जामिया और शाहीन बाग में फायरिंग की घटना सामने आई थी। इस घटना को लेकर लोगों का कहना था कि वोटों का बंटवारा और माहौल को खराब करने की कोशिश की गई थी। अब बिहार में भी चुनाव से पहले कुछ ऐसा ही करने की कोशिश की जा रही है। हालांकि चुनाव में में अभी 6 महीने से ज़्यादा समय बाकी हैं लेकिन अभी से नफरत का माहौल पैदा करने की कोशिश शुरू हो है।

बता दें कि सीएए, एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ शाहीनबाग में भी धरना पर बैठे लोगों पर कुछ दिन पहले फायरिंग की घटना हुई थी।

लोकप्रिय