CAA: रिहा होने के बाद बेटी चंपक से मिली एकता, भावुक होकर बोलीं- मेरे दूध पर थी निर्भर, इसलिए हो रही थी चिंता

सीएए के विरोध में वाराणसी में हुए प्रदर्शन के दौरान गिरफ्तार मासूम बच्ची चंपक के माता-पिता सहित 56 लोगों को आज जेल से रिहा कर दिया है। रिहाई के बाद चंपक की मां एकता शेखर ने कहा कि वह मेरे दूध पर निर्भर है, मुझे उसकी चिंता थी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान वाराणसी में गिरफ्तार हुए दुधमुंही बच्ची के माता-पिता समेत 57 लोग आज जेल से रिहा हो गए हैं। जेल से निकलने के बाद चंपक के माता-पिता भावुक हो गए। रिहा होने के बाद चंपक की मां एकता कपूर ने कहा, “मेरी बच्ची चंपक मेरे दूध पर निर्भर है, ऐसे में मैं उसके बारे में चिंतित थी। यह मेरे लिए बहुत कठिन था।” उन्होंने आगे कहा कि बच्ची से दूर रहना मेरे लिए बेहद मुश्किल भरा रहा।

गौरतलब है कि सीएए को लेकर यूपी के कई जिलों में हिंसक प्रदर्शन हुआ था। यहां तक की पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में विरोध प्रदर्शन की कई तस्वीरें सामने आई थी। इस विरोध प्रदर्शन के बाद वाराणसी में 57 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था, जिनमें 56 नामजद हैं और एक अज्ञात।


सीएए के खिलाफ प्रदर्शन करने पर एनजीओ चलाने वाले रवि शेखर और उनकी पत्नी एकता शेखर की भी गिरफ्तारी हुई थी। एकता शेखर की गिरफ्तारी का मामला कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पिछले सप्ताह लखनऊ में उठाया था। इनकी 14 महीने की बेटी चंपक है और दोनों लोगों के गिरफ्तार होने के बाद जिसकी देखभाल पड़ोसी कर रहे हैं।

प्रियंका गांधी ने बीजेपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा था, “बीजेपी सरकार ने नागरिक प्रदर्शनों को दबाने के लिए ऐसी अमानवीयता दिखाई है कि एक छोटे से बच्चे को मां-बाप से जुदा कर दिया है। चंपक की तबीयत खराब हो गई है लेकिन बीजेपी सरकार की खराब नियत पर कोई असर नहीं पड़ा है। चंपक के माता-पिता शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने के चलते जेल में हैं।”


इससे पहले इस बच्ची की दादी वाराणसी स्थित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यालय भी गई थीं। बच्ची की दादी शिला शेखर ने बच्ची की हालत बताते हुए कार्यालय में पीएम के नाम ज्ञापन सौंपा और न्याय की गुहार लगाई थी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia