सावधान! लापरवाही पड़ेगी भारी, कोरोना के डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ वैक्सीन 8 गुना कम कारगर, स्टडी में दावा

दिल्ली के एक अस्पताल की स्टडी में दावा किया गया है कि कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ वैक्सीन 8 गुना कम असरदार है। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोरोना वायरस के B.1.617.2 या डेल्टा वैरिएंट को पहले ही 'चिंता का एक रूप' करार दिया जा चुका है।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने देश भर में कहर बरपा कर रख दिया है। अब कोरोना के नए वैरिएंट के खतरे को देखते हुए तीसरी लहर की आशंका और बढ़ गई है। विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना के इस वैरिएंट पर वैक्सीन ज्यादा कारगार साबित नहीं होगी।

दिल्ली के एक अस्पताल की स्टडी में दावा किया गया है कि कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ वैक्सीन 8 गुना कम असरदार है। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोरोना वायरस के B.1.617.2 या डेल्टा वैरिएंट को पहले ही 'चिंता का एक रूप' करार दिया जा चुका है। स्टडी में दावा किया गया है, भारत में डेल्टा वैरिएंट का प्रभुत्व पहले से संक्रमित व्यक्तियों में एंटीबॉडी को निष्क्रिय करने और वायरस की संक्रामकता में बढ़ोतरी से प्रेरित है।

दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल सहित भारत में तीन केंद्रों पर 100 से अधिक हेल्थ वर्कर्स पर स्टडी की गई। कैम्ब्रिज इंस्टीट्यूट ऑफ थेराप्यूटिक इम्यूनोलॉजी एंड इंफेक्शियस डिजीज के वैज्ञानिक भी इस स्टडी का हिस्सा थे। रिसर्चर्स ने पाया है कि वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके हेल्थ वर्कर्स के संक्रमित होने के पीछे की वजह ज्यादातर में डेल्टा वैरिएंट ही था।


गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस के 34,703 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 3,06,19,932 हुई। 553 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 4,03,281 हो गई है। 51,864 नए डिस्चार्ज के बाद कुल डिस्चार्ज की संख्या 2,97,52,294 हुई। देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 4,64,357 है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 06 Jul 2021, 11:16 AM