बंगाल चुनाव: ममता का प्लास्टर बना कार्टूनिस्टों की रचनाशीलता का आकर्षण, सबने दिए सियासी संदेश

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के पैर पर लगा प्लास्टर राजनीतिक कार्टून बनाने वाले कलाकारों के आकर्षण का केंद्र बना है। देश के कई जाने-माने कार्टूनिस्टों ने इसे आधार बनाकर अपने हिसाब से राजनीतिक संदेश दिया है।

ममता है कार्टूनिस्टों की पहली पसंद
ममता है कार्टूनिस्टों की पहली पसंद
user

नवजीवन डेस्क

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी घायल हैं। नंदीग्राम में नामांकन दाखिल करने के बाद उनके साथ हुई कथित धक्का-मुक्की में उन्हें चोट लगी थी जिसके बाद कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। ममता के पैर में प्लास्टर लगाया गया है। इसी को आधार बनाकर आज कई कार्टूनिस्टों ने अपने सियासी संदेश दिए हैं।

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के लिए कार्टूनिस्ट संदीप अधवर्यू ने अपने कार्टून में ममता को प्लास्टर चढ़े पैर के साथ फुटबॉल खेलते दिखाया है। उन्होंने इसके साथ 'खेला होबे' कैप्शन भी दिया है। गौरतलब है कि फुटबॉल पश्चिम बंगाल का पसंदीदा खेल है और देश के अधिकतर प्रसिद्ध फुटबॉल खिलाड़ा कोलकाता से निकले हैं। वहीं खेला होबे एक राजनीतिक नारे के तौर पर भी इस बार के विधानसभा चुनावों में इस्तेमाल हो रहा है।

टाइम्स ऑफ इंडिया के लिए संदीप अधवर्यू का कार्टून
टाइम्स ऑफ इंडिया के लिए संदीप अधवर्यू का कार्टून

वहीं प्रसिद्ध कार्टूनिस्ट सतीश आचार्य ने भी ममता के प्लास्टर को अपने आज के कार्टून का विषय बनाया है। सतीश आचार्य अपने कार्टून के जरिए राजनीतिक टिप्पणियां करते हैं। उन्होंने आज के कार्टून में एक रेस ट्रैक की कल्पना की है, जिस पर ममता बनर्जी और पीएम मोदी को दौड़ते दिखाया गया है। दो तस्वीरों में उन्होंने दिखाया है कि किस तरह पहले ममता और मोदी के बीच अंतर कम था, लेकिन ममता के घायल होने और पैर पर प्लास्टर लगने के बाद ममता की रफ्तार और अधिक तेज हो गई है और वे मोदी से काफी आगे निकल गई हैं। उन्होंने इसी कार्टून में बीजेपी को हताशा को रेखांकित करते हुए पीएम मोदी के वाक्य बबल में फेक शब्द का इस्तेमाल किया है। यह उस ओर इशारा करता है जिसमें ममता के चोट लगने के बाद बीजेपी के नेता उनकी चोट को नकली आदि कह रहे हैं।

सतीश आचार्य का कार्टून
सतीश आचार्य का कार्टून

उधर अपने नियमित संपादकीय कार्टून 'फर्स्ट कट' में कार्टूनिस्ट मंजुल ने भी ममता के प्लास्टर को ही विषय बनाया है। उन्होंने बहुत गहरी राजनीतिक टिप्पणी करते हुए ममता बनर्जी के पैर के प्लास्टर को बंगाल में बीजेपी के प्रवेश को अवरोधक के तौर पर दिखाया है।

मंजुल का कार्टून
मंजुल का कार्टून

इसके अलावा कार्टूनिस्ट पोनप्पा ने भी ममता बनर्जी के पैर के प्लास्टर को ही अपना विषय बनाया है। उन्होंने ममता के पैर के प्लास्टर में तृणमूल कांग्रेस के चुनाव चिह्न को उगते हुए दिखाया है।

पोनप्पा का कार्टून
पोनप्पा का कार्टून

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia