'निर्भया फंड' से गाड़ी खरीदने का मामलाः शिंदे विधायकों पर भड़कीं जया बच्चन, कहा- महिलाओं से मांगनी चाहिए माफी

जया बच्चन ने कहा कि, ‘ऐसे लोगों को इस्तीफा देना चाहिए, जिन्होंने इस प्रकार से दुरुपयोग किया है। उनको सारी महिलाओं माफी मांगनी चाहिए। मैं क्या शब्द इस्तेमाल करूं इनके लिए? ये बहुत शर्म की बात है।’

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

शिंदे विधायकों को y+ सुरक्षा प्रदान करने के लिए निर्भया फंड से गाड़ियां खरीदने पर समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन भड़क गई हैं। उन्होंने कहा कि, ‘ऐसे लोगों को इस्तीफा देना चाहिए, जिन्होंने इस प्रकार से दुरुपयोग किया है. उनको सारी महिलाओं माफी मांगनी चाहिए. मैं क्या शब्द इस्तेमाल करूं इनके लिए? ये बहुत शर्म की बात है।’

दरअसल महिलाओं के खिलाफ अपराध से लड़ने के लिए निर्भया फंड के तहत इस साल की शुरुआत में मुंबई पुलिस द्वारा खरीदे गए कुछ वाहनों का उपयोग वर्तमान में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले शिवसेना गुट के विधायकों और सांसदों को ‘वाई-प्लस’ सुरक्षा प्रदान करने के लिए किया जा रहा है। पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी रविवार को दी थी।

इस साल शहर पुलिस ने जून में ‘निर्भया कोष’ के तहत प्राप्त 30 करोड़ रुपए से ज्यादा की लागत से 220 बोलेरो, 35 एर्टिगा, 313 पल्सर बाइक और 200 एक्टिवा खरीदे गए थे। महिलाओं के खिलाफ हो रहे क्राइम से निपटने के लिए निर्भया फंड से खरीदी गाड़ियों का इस्तेमाल नेताओं को सुरक्षा देने में किया जा रहा है।


बीते दिनों इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, इस साल जुलाई में एकनाथ शिंदे गुट के 40 विधायकों और एक दर्जन मंत्रियों को वाई प्लस सुरक्षा देने के लिए मोटर ट्रांसपोर्ट विभाग ने मुंबई पुलिस से 47 बोलेरो देने की गुजारिश की। तुरंत सुरक्षा व्यवस्था देने की ये गुजारिश VIP सिक्योरिटी विभाग की तरफ से की गई थी। सुरक्षा के लिए जो 47 बोलेरो दी गई उनमें से 17 वापस आ गईं, लेकिन 30 गाड़ियां अब तक वापस नहीं आई हैं।

इस खबरो को लेकर विपक्षी कांग्रेस और एनसीपी ने शिंदे के नेतृत्व वाली सरकार पर हमला करते हुए पूछा था कि क्या सत्तारूढ़ विधायकों की सुरक्षा महिलाओं की सुरक्षा से अधिक महत्वपूर्ण है। कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने पूछा था, “क्या सत्तारूढ़ विधायकों की सुरक्षा महिलाओं को दुर्व्यवहार से बचाने से ज्यादा महत्त्वपूर्ण है?”

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;