सीबीएसई के 10वीं का एक्जाम पैटर्न बदलने की तैयारी, कम सवाल होंगे, लेकिन लिखने होंगे लंबे जवाब

सीबीएसई दसवीं परीक्षा के प्रश्न पत्रों में बदलाव करने वाला है। इसके तहत ऑब्जेक्टिव सवालों को बदला जाएगा और थिअरी में सवाल कम कर उनके अंक बढ़ाए जाएंगे। इसके बाद छात्रों को इन सवालों के जवाब लंबे लिखने होंगे।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी सीबीएसई ने अगले साल से 10वीं के एक्जाम पैटर्न में बदलाव की तैयारी शुरु कर दी है। अखबारों में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक अब 10वीं की परीक्षा में ऑब्जेक्टिव प्रश्नों को कम किया जाएगा और सब्जेक्टिव (रचनात्मक) प्रश्रों की संख्या बढ़ाई जाएगी। यानी एक से अधिक विकल्पों वाले सवालों के बजाए ऐसे सवाल होंगे जिनके लंबे उत्तर लिखने होंगे। रिपोर्ट के मुताबिक सीबीएसई का मानना है कि ऐसा करने से छात्र-छात्राओं में लिखने-पढ़ने की आदत बढ़ेगी, उनका व्यावहारिक ज्ञान बढ़ेगा और सोचने की प्रक्रिया बेहतर होगी।

अखबार ने सीबीएसई के एक अधिकारी के हवाले बताया है कि फिलहाल इसे एक प्रोजक्ट के तौर पर शुरू किया जा रहा है। बदलाव तय होने के बाद नए पैटर्न के सैंपल पेपर भी जारी किए जाएंगे। अधिकारी का कहना है कि सैंपल पेपर्स से छात्रों को नया पैटर्न समझने में मदद मिलेगी। अधिकारी का कहना था कि बोर्ड के विशेषज्ञ नए पैटर्न पर विचार कर रहे हैं। नए पैटर्न में प्रश्नों की संख्या कम होगी और प्रश्न के अंक (मार्क्स) बढ़ाए जाएंगें।

अखबार के मुताबिक विशेषज्ञों का मानना है कि पैटर्न बदलने से छात्रों को चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि पूरा प्रश्नपत्र नहीं बदला जाएगा, बल्कि पैटर्न में मामूली बदलाव ही किए जाएंगे। बताया गया है कि बोर्ड एक-एक अंक वाले प्रश्नों के तरीकों में भी बदलवा लाने के तरीके पर विचार कर रहा है।

बताया गया है कि अभी तक दसवीं की परीक्षा में ऑब्जेक्टिव प्रश्न 20 अंक के होते थे और इनके छोटे उत्तर होते थे। लेकिन अब इनमें बदलाव लाया जा रहा है। साथ ही सबसे बड़ा बदलाव थिअरी के 60 अंक वाले हिस्से में होगा। प्रश्न पत्र के इस हिस्से में अब पहले से कम सवाल होंगे, लेकिन हर प्रश्न के अंक बढ़ा दिए जाएंगे, साथ ही इन प्रश्नों के जवाब भी लंबे लिखने होंगे।

इसके अलावा स्कूलों में होने वाले इंटरनल असेसमेंट, जो अभी तक 20 अंक का होता है, उसे बदला जाएगा।

लोकप्रिय