'तहरीक-ए-हुर्रियत' पर केंद्र ने लगाया बैन, संगठन पर कश्मीर को भारत से अलग करने से जुड़ी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि यह संगठन जम्मू-कश्मीर को भारत से अलग करने और इस्लामी शासन स्थापित करने के लिए निषिद्ध गतिविधियों में शामिल है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

जम्मू-कश्मीर की 'तहरीक-ए-हुर्रियत' पर केंद्र सरकार ने बैन लगा दिया है। इस संबंध में गृहमंत्री अमित शाह ने एक्स पर पोस्ट किया, ''तहरीक-ए-हुर्रियत, जम्मू-कश्मीर (TeH) को UAPA के तहत एक 'गैरकानूनी संघ' घोषित किया गया है। यह संगठन जम्मू-कश्मीर को भारत से अलग करने और इस्लामी शासन स्थापित करने के लिए निषिद्ध गतिविधियों में शामिल है। जम्मू-कश्मीर में अलगाववाद को बढ़ावा देने के लिए भारत विरोधी दुष्प्रचार फैलाते हुए और आतंकी गतिविधियां जारी रखते हुए पाया गया है।"

गृहमंत्री शाह ने आगे कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आतंकवाद को लेकर जीरो-टोलरेंस की नीति के तहत अगर कोई व्यक्ति या संगठन भारत-विरोधी गतिविधि में शामिल रहता है, तो उसे तुरंत विफल कर दिया जाएगा। मोदी सरकार ने घाटी से आतंक के सफाए के लिए लगातार अलगाववादी संगठनों पर कार्रवाई की है। यह उस दिशा में उठाया गया सबसे हालिया कदम है।”


केंद्र सरकार ने इससे पहले 27 दिसंबर को मुस्लिम लीग जम्मू कश्मीर (मसर्रत आलम गुट) को प्रतिबंधित आतंकी संगठन घोषित किया था। इस संगठन के नेता मसर्रत आलम भट पर भारत विरोधी एजेंडा चलाने का आरोप लगा था। पाकिस्तान के समर्थन में घाटी में गतिविधियां भी करने का आरोप था।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 31 Dec 2023, 2:35 PM
;