हनुमान जयंती पर केंद्र की राज्यों को एडवाइजरी, दिल्ली में पुलिस का फ्लैग मार्च, कलकत्ता HC ने बंगाल सरकार को दी ये सलाह

बता दें कि पिछले साल हनुमान जयंती के मौके पर ही दिल्ली के जहांगीरपुरी में दंगे हुए थे। उस दौरान रामनवमी के मौके पर पुलिस परमिशन के बिना लोगों ने शोभा यात्रा निकाली थी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

रामनवमी पर देश के कई राज्यों में हिंसा हुई। बिहार, पश्चिम बंगाल और महाराष्ट्र में तो पक्षों के बीच जमकर बवाल हुई। गुरुवार को हनुमान जयंती है, इससे पहले गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों के लिए एडवाइजरी जारी की है। मंत्रालय ने हनुमान जयंती पर किसी तरह की कोई गड़बड़ी न हो और शांति रहे इसके लिए राज्यों से कानून-व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है। मंत्रालय ने कहा है कि हर ऐसी चीज पर नजर रखा जाए, जिससे साम्प्रदायिक सौहार्द बिगड़ने का खतरा हो।

उधर, राजधानी दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में पुरिस ने फ्लैग मार्च निकाला है। दिल्ली पुलिस के अधिकारियों और जवानों ने पैदल मार्च किया है। हनुमान जयंती को देखते हुए पुलिस ने लोगों से कानून व्यवस्था को बनाए रखने और अफवाहों से दूर रहने की अपील की है।


बता दें कि पिछले साल हनुमान जयंती के मौके पर ही जहांगीरपुरी में दंगे हुए थे। उस दौरान रामनवमी के मौके पर पुलिस परमिशन के बिना लोगों ने शोभा यात्रा निकाली थी। कहा जा रहा है कि इस बार भी 2 लोगों द्वारा जहांगीरपुरी में शोभा यात्रा निकालने की परमिशन मांगी है, लेकिन लॉ एंड आर्डर को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने दोनों ही आयोजकों को अभी तक परमिशन देने से मना कर दिया है। वहीं इलाके में दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा इंतजाम भी बढ़ा दिए हैं। इलाके में दिल्ली पुलिस और पैरामिलिटरी फ़ोर्स के जवान पेट्रोलिंग कर रहे हैं। बाइक के ज़रिए भी पेट्रोलिंग की जा रही है।

वहीं, कलकत्ता हाईकोर्ट ने पश्चिम बंगाल के हुगली जिले के रिशरा में हुई हिंसा के मद्देनजर राज्य सरकार को सलाह दी कि जब तक पूरी तरह से सामान्य स्थिति बहाल नहीं हो जाती, तब तक वह क्षेत्र में केंद्रीय सशस्त्र बलों को तैनात करने पर विचार करे। न्यायमूर्ति शिवगणनम ने कहा कि पहले भी ऐसे कई उदाहरण सामने आए हैं जब राज्य सरकार ने केंद्रीय एजेंसियों की सहायता मांगी और वह इस मामले में भी इसी तरह की सहायता मांग सकती है। उन्होंने कहा, इस मामले में, स्थिति को नियंत्रित करने के लिए एक जिले से पुलिस बल को दूसरे जिले में तैनात करना पड़ा।


पीठ ने गुरुवार को हनुमान जयंती के अवसर पर इस तरह की हिंसा की पुनरावृत्ति से बचने के लिए राज्य सरकार को पूरी सावधानी बरतने का भी निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सांप्रदायिक तनाव पैदा करने और हिंसा भड़काने के संभावित प्रयासों की भी चेतावनी दी है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;